चंडीगढ़। स्वास्थ्य मंत्री के दुर्व्यवहार से नाराज डाक्टरों ने इस्तीफे की झड़ी लगा दी है। मेडिकल कालेज में इंस्पेक्शन के दौरान स्वास्थ्य मंत्री ने मेडिकल यूनिवर्सिटी के वीसी को जबरिया गंदे गद्दे पर पकड़कर लिटा दिया था। स्वास्थ्य मंत्री मेडिकल में बेड की खराब स्थिति को देखकर भड़क उठे थे। मेडिकल यूनिवर्सिटी के कुलपति के साथ दुर्व्यवहार के बाद स्वास्थ्य विभाग में बवाल मच गया।

पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा के रवैये पर बवाल हो गया है। बाबा फरीद मेडिकल यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ. राज बहादुर ने आधी रात को इस्तीफा दे दिया। उन्होंने CM भगवंत मान को इस्तीफा भेज दिया।

इसके बाद अमृतसर मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. राजीव देवगन, मेडिकल सुपरिनटैंडैंट डॉ. केडी सिंह और VC के सेक्रेटरी ओपी चौधरी ने भी इस्तीफा दे दिया। हालांकि, उन्होंने इसकी वजह निजी कारण बताए हैं, लेकिन इसके पीछे मंत्री का रवैया ही बताया जा रहा है।

उधर, IMA पंजाब ने VC के साथ हुई घटना पर दुख जताया है। आईएमए अध्यक्ष डॉ. परमजीत मान ने कहा है कि स्वास्थ्य मंत्री ने वीसी को बेड पर लेटने के लिए मजबूर कर उनका अपमान किया है। IMA ने स्वास्थ्य मंत्री से तत्काल बिना शर्त माफी और इस्तीफे की मांग की है।

 

घटना के बाद राज बहादुर ने कहा था कि उन्होंने अपने साथ हुए दुर्व्यवहार की जानकारी पंजाब के मुख्यमंत्री को दी है और साथ ही उनसे खुद को सेवा मुक्त करने का आग्रह किया है, क्योंकि माहौल काम करने के अनुकूल नहीं है।

आपको बता दें कि पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री चेतन सिंह जौड़ामाजरा ने शुक्रवार को फरीदकोट अस्पताल का दौरा किया था। इस दौरान वह स्किन वार्ड में पहुंचे। वहां गद्दे फटे और जले हुए थे। यह देख मंत्री जौड़ामाजरा तैश में आ गए। उन्होंने इस पर अफसरों से जवाबतलबी की जगह वाइस चांसलर को उसमें लेटने को कहा। वाइस चांसलर थोड़े हिचकिचा रहे थे, तो मंत्री ने खुद हाथ से पकड़कर उन्हें लेटने को कहा। उस वक्त पूरा स्टाफ और मीडिया वहां मौजूद थी। इसके बाद इसका वीडियो वायरल हो गया।

इस मामले में हिमाचल के कांग्रेस नेता अग्निहोत्री ने फेसबुक पर साझा की एक पोस्ट में कहा, “हम पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री द्वारा हिमाचल प्रदेश के गौरव डॉ. राज बहादुर के साथ किए गए दुर्व्यवहार की कड़ी निंदा करते हैं। एक मंत्री की कुर्सी किसी को विश्व विख्यात व्यक्ति के साथ अशिष्ट व्यवहार करने का अधिकार नहीं देती है।” हिमाचल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष ने आगे लिखा, “पूरा हिमाचल प्रदेश आपके साथ है डॉ. राज बहादुर।”

Leave a comment

Your email address will not be published.