रांची: 5 सितंबर से 22 सितंबर तक मोहराबादी मैदान में भर्ती रैली का आयोजन होगा। भर्ती के दौरान ट्रेनों और बसों में होने वाली भीड़ को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार द्वारा सुरक्षा व अन्य इंतजामों के लिए जिला प्रशासन से भी मदद ली गई है।

इसको लेकर रांची जिला प्रशासन की ओर से भी तैयारी कर ली गई है। यह सेना भर्ती रैली झारखंड के 24 जिलों के युवाओं के लिए हो रही है। इस ‘अग्निपथ योजना’ भर्ती रैली के लिए 5 जुलाई से 3 अगस्त 2022 तक 30 दिनों के लिए पंजीकरण विंडो खोली गई थी। जिसमें लगभग 85,000 उम्मीदवारों ने भर्ती रैली में भाग लेने के लिए पंजीकरण कराया है। पंजीकृत उम्मीदवारों को प्रवेश पत्र जारी किए गए हैं और उनके प्रवेश पत्र में दी गई तिथि और जिलेवार विवरण के अनुसार भर्ती रैली में उपस्थित होने के लिए सूचित किया गया।

मुख्य सचिव ने बैठक कर ली तैयारियों का जायजा

सेना भर्ती रैली को लेकर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह ने बैठक बुलायी जिसमें कर्नल राकेश कुमार, निदेशक भर्ती, सेना भर्ती कार्यालय समेत कई पदाधिकारी मौजूद रहे। बैठक में सारी तैयारियों का जायजा लिया। बैठक में रांची डीसी राहुल कुमार सिन्हा, डीजीपी नीरज सिन्हा, एसपी ग्रामीण नौशाद आलम और अन्य सभी महत्वपूर्ण नागरिक प्रशासन पदाधिकारियों के साथ मीटिंग की। एबीसी सहित अन्य पदाधिकारियों ने रैली की अवधि के लिए सभी आवश्यक प्रशासनिक व्यवस्था और कानून व्यवस्था पूरी करने का आश्वासन दिया।

दलालों से बचकर रहने की सलाह

सेना की ओर से अभ्यर्थियों को दलालों से बच कर रहने की सलाह जारी की गई है। सैन्य अधिकारियों का कहना है कि सेना में भर्ती की प्रक्रिया पूरी तरह निष्पक्ष और पारदर्शी होती है। इसलिए अभ्यर्थी किसी के बहकावे में न आएं। अगर बहाली के नाम पर कोई रुपए मांगता है, या अन्य किसी चीज की मांग करता है तो उनके बहकावे में ना आए और इसकी शिकायत करें।

Leave a comment

Your email address will not be published.