धनबाद न्यूज : धनबाद डीसी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी संदीप सिंह ने निर्वाचन आयोग के निर्देश पर मतदाता संबंधी मामले में आवश्यक निर्देश दिए है । उन्होने कहा कि 31 दिसंबर तक सभी मतदाताओं के नाम एवं फोटो पहचान पत्र आधार से लिंक करा दिया जाएगा। इसके लिए 1 अगस्त से बीएलओ का घर-घर जाकर आधार नंबर लेने का अभियान शुरू हो गया है।

किसी भी मतदाता का आधार नंबर सार्वजनिक नहीं होगा

डीसी ने कहा है कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देश पर लोक प्रतिनिधित्व कानून में बदलाव किया गया है । अब नए मतदाता बनने के लिए आधार नंबर देना अनिवार्य कर दिया गया है। जबकि पुराने मतदाता अपने मतदाता सूची को आधार से खुद भी चाहे तो ऑनलाइन लिंक करा सकते हैं । किसी भी मतदाता का आधार नंबर सार्वजनिक नहीं होगा।

वर्ष में चार बार होगा पुनिरक्षण

श्री संदीप सिंह ने कहा कि मतदाता सूची का पहले वर्ष में एक बार पुनरीक्षण होता था, अब यह काम वर्ष में चार बार होगा। यानी हर तीन माह के बाद पुनरीक्षण किया जाएगा। साथ ही मतदाताओं को बूथ बदलने या नाम शुद्धिकरण के लिए एक ही फॉर्म भरना होगा । इस दौरान जिला उप निर्वाचन पदाधिकारी मृत्युंजय पांडे जिला जनसंपर्क पदाधिकारी ईशा खंडेलवाल भी मौजूद थी।

धनबाद में कुल 19,59,966 मतदाता

उन्होंने कहा कि मतदाता सूची के अनुसार धनबाद जिला में वर्तमान में 19,59,966 मतदाता सूची हैं। इनमें 10,41 , 786 पुरुष हैं। इसके अलावा 9,18,154 महिला तथा 26 थर्ड जेंडर मतदाता है । पूरे जिले में 2378 मतदान केंद्र हैं । इसमें सिंदरी विधानसभा क्षेत्र में 426 धनबाद में 458 झरिया में 346 टुंडी में 369, निरसा में 424 तथा बाघमारा में 355 बूथ हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.