हजारीबाग। झारखंड में मोबाइल की रोशनी में मरीजों का इलाज हो रहा है। सोशल मीडिया में मोबाइल के टार्च की रोशन में इलाज करते डाक्टर का VIDEO वायरल होने के बाद अब स्वास्थ्य विभाग ने जांच के आदेश दिये हैं। वायरल वीडियो में दावा किया जा रहा है कि हजारीबाग के मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एचएमसीएच)  का बताया जा रहा है। हालांकि HPBL न्यूज इस वायरल वीडियो के दावे की पुष्टि नहीं करता है।

 दावा किया गया है कि हजारीबाग के विधायक मनीष जायसवाल के सचिव रंजन चौधरी ने यह वीडियो बनाया। इसमें कथित तौर पर दिखाया गया है कि बिजली गिरने से गंभीर रूप से घायल मरीज का इलाज हजारीबाग मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (एचएमसीएच) में मोबाइल फोन के टॉर्च की रोशनी में किया जा रहा है क्योंकि उस समय अस्पताल में बत्ती गुल थी। इस वीडियो को बाद में सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया गया। 

इधर इस घटना से अस्पताल प्रबंधन ने इनकार किया है। वहीं जिला प्रशासन ने इस मामले में समिति का गठन कर दिया है। जानकारी के मुताबिक 24 वर्षीय एक युवक आकाशीय बिजली की चपेट में आया था। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन स्वास्थ्य केंद्र में लाइट ही नहीं थी, जिसके बाद मोबाइल की रोशनी में इलाज किया गया।

Leave a comment

Your email address will not be published.