देवघर। देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री एक बार फिर विवादों में आ गये हैं। देवघर उपायुक्त का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। वीडियो में देवघर बाबा मंदिर में जलाभिषेक करने आये दो कावंड़िये देवघर डीसी से रास्ते में बिछाये गये बालू की शिकायत करते दिखायी दे रहे हैं, उननकी समस्या सुनने के बाद डीसी बड़े ही अजोबो गरीब तरीके से रिएक्ट करते दिख रहे हैं। इस वीडियो के वायरल होने पर अब हेमंत सोरेन सरकार से विपक्ष ने हमला बोल दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से तत्काल देवघर डीसी को हटाने की मांग की है। बाबूलाल मरांडी ने कहा है कि ऐसे अफसर से नौकरशाही बदनाम होती है।

दरअसल कावंड यात्रा के 105 किलोमीटर की यात्रा के दौरान कुछ हिस्सा बिहार में पड़ता है, तो  कुछ झारखंड राज्य में आता है। झारखंड में श्रद्धालू झारखंड में 10 से 12 किलोमीटर की यात्रा कर बाबा मंदिर पहुंचते हैं। ऐसे में कई जगहों पर उन्हें परेशानी का सामने करना पड़ता है। एक कावंड़िया ने डीसी से शिकायत की तो देवघर के उपायुक्त का व्यवहार बड़ा ही अजीबो गरीब था।

वीडियो में साफ सुनाई पड़ा रहा है कि देवघर के उपायुक्त से कावंडिया कह रहे हैं कि बाबाधाम में घुसते ही बालू की वजह से 10-12 किलोमीटर बहुत ही थकान और कष्टदायक होता है। इसी बात पर देवघर डीसी तो पहले ये सवाल करते हैं कि आप कहां से हैं.? .. कांवड़िया के बताने पर कि वो छपरा जिले से है, तो उपायुक्त अगला सवाल कहते हैं कि वो किस राजनीतिक पार्टी से हैं। डीसी कहते हैं कि राजनीति छोड़ दीजिये, यहां व्यवस्था बहुत अच्छी है।

इस मामले पर पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने ट्वीट किया है। मरांडी ने लिखा है कि…..

बाबा धाम आने वाले शिव भक्त कांवरियों की व्यथा पर वहाँ के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री की यह राजनैतिक अमर्यादित भाषा हैरान करने वाला है। यह उपायुक्त शुरू से विवादास्पद रहे हैं। मुख्यमंत्री @HemantSorenJMM जी, इन्हें नौकरी से इस्तीफ़ा दिलवाकर अपने दल का कार्यकारी अध्यक्ष बना दीजिये।

वहीं एक अन्य ट्वीट में बाबूलाल मरांडी ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से देवघर डीसी के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग कर रहे हैं। उन्होंने लिखा है…

देवघर के उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री को शिवभक्त कावंरियों की पीड़ा और आपबीती में राजनीति दिख रही है। ऐसे अधिकारियों के कारण नौकरशाही की बदनामी होती है। मुख्यमंत्री @HemantSorenJMM जी इन्हें निलंबित कर कठोर कार्रवाई करिये।

Leave a comment

Your email address will not be published.