रांची स्वास्थ्य विभाग में रांची सिविल सर्जन द्वारा किया गया जिला स्तरीय कर्मचारी का ट्रांसफर पोस्टिंग विवाद थमने का नाम नही ले रहा। सिविल सर्जन डा विनोद कुमार की अध्यक्षता में बनी स्थापना समिति में लिए गए निर्णय की चर्चा मंत्रालय तक पहुंच चुकी है,आने वाले दिनों में इसपर अमल हो पाएगा या नहीं, इस पर प्रश्नचिन्ह लग गया है।

ट्रांसफर आदेश

प्राप्त जानकारी के अनुसार सिविल सर्जन द्वारा बनाई गई स्थापना समिति द्वारा कई दौर में ट्रांसफर पोस्टिंग की गई है।विवाद में ट्रांसफर पोस्टिंग आने के बाद एक ट्रांसफर आदेश को सिविल सर्जन द्वारा स्वयं के हस्ताक्षर से रद्द तो कर दिया गया।परंतु बाकी ट्रांसफर पोस्टिंग आदेश को रद्द नही किया गया जिस वजह से फिर से कर्मचारियों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार 6 जुलाई को पत्र संख्या 3408 के माध्यम से कुल 11कर्मचारियों के ट्रांसफर का आदेश निर्गत किया गया था।जिस पर कर्मचारी गड़बड़ी का आरोप लगा रहे हैं। समिति में जिले के ACMO,DLO,सहित जिला स्तरीय पदाधिकारी सदस्य बनाए गए थे।

कर्मचारियों का ये भी कहना है की सिविल सर्जन ने नैतिकता का सवाल उठा कर यदि एक ट्रांसफर लिस्ट को रद्द किया है तो अन्य ट्रांसफर लिस्ट को क्यों नहीं रद्द कर रहे है।मामला तूल पकड़ने के बाद अंदर ही अंदर सिविल सर्जन द्वारा ट्रांसफर आदेश पर संशोधित आदेश भी निकाला जा रहा है, ऐसे में उम्मीद है की कर्मचारियों की शिकायत और आक्रोश के बाद विभाग कोई कमिटी गठित कर जांच करवा सकती है। कर्मचारियों का भी कहना है की ट्रांसफर पोस्टिंग के पूरे खेल की उच्चस्तरीय जांच विभाग कराए ताकि भविष्य में किसी भी आदेश पर गड़बड़ी का आरोप न लगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.