झारखंड के एक छोटे गांव की रिया तिर्की फैशन की दुनिया में नाम कमा रही है। रिया रांची के तुपुदाना क्षेत्र के बानो गांव की रहने वाली है ।आदिवासी समाज से जुड़ी रिया तिर्की ने हाल ही में फेमिना मिस इंडिया झारखंड का खिताब जीता है।फेमिना मिस इंडिया की दौड़ में भी वह शामिल थी हालांकि वह फाइनल तक नहीं पहुंच सकी।फेमिना मिस इंडिया की दौड़ में उन्होंने झारखंड का प्रतिनिधित्व किया था ।

आदिवासी समाज से जुड़ी लड़कियां हर क्षेत्र में बेहतर प्रदर्शन कर रही है। शैक्षणिक गतिविधियों के अलावा, खेल के क्षेत्र में भी इस समाज से जुड़ी लड़कियों की पहचान अंतरराष्ट्रीय स्तर तक है ।अब फैशन की दुनिया में भी यहां की लड़कियां देश-विदेश में नाम कमा रही है। झारखंड की रिया तिर्की फैशन की दुनिया में इस मुकाम तक पहुंचने वाली पहली आदिवासी लड़की है। यह पहली बार है कि किसी जनजातीय लड़की ने झारखंड का प्रतिनिधित्व किया है ।

रिया बताती है कि 7 सालों की कड़ी मेहनत के बाद उन्होंने यह मुकाम हासिल किया है।फेमिना मिस इंडिया में झारखंड का प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि इस बार वह टॉप टेन में आने से चूक गयी लेकिन टॉप 30 में अपना स्थान पक्का कर लिया। बुलंद हौसले के साथ कहती है मैं हिम्मत हारने वाली लड़की नहीं हूं।फैशन कि दुनिया में एक अलग मुकाम हासिल करने के लिए उन्होंने यह क्षेत्र चुना है

।उन्होंने कहा कि झारखंड में नागपुरी लोकप्रिय गीत है।वह नागपुरी फ़िल्म में भी काम करना चाहती है।झारखंड के फिल्मों को भी आगे बढ़ाने के लिए उन्होंने योजना बनाई है। उन्होंने बताया कि इस क्षेत्र में आने के लिए उन्हें कभी भी रंगभेद का शिकार नहीं होना पड़ा। पढ़ाई लिखाई बेहतर माहौल में हुई है।घर के अभिभावक का प्रोत्साहन मिलता रहा है इसी का नतीजा है कि आज की दुनिया में इस प्लेटफार्म पर अपने राज्य को प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला।

Leave a comment

Your email address will not be published.