नईदिल्ली: केंद्र सरकार ने स्मॉल सेविंग स्कीम में निवेश करने वाले निवेशकों को नए साल का तोहफा दिया है। सरकार ने 1 जनवरी से राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र डाकघर सावधि जमाओं और वरिष्ठ नागरिक बचत योजना पर ब्याज दरें बढ़ा दी है। हालांकि पीपीएफ की दर में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

वित्त मंत्रालय की नोटिफिकेशन के मुताबिक 2023 की पहली तिमाही यानी जनवरी-मार्च की अवधि के लिए कुछ स्मॉल सेविंग सम पर ब्याज दरों में 0.20 से 1.10 फ़ीसदी तक बढ़ोतरी की गई है। इस बढ़ोतरी के बाद स्मॉल सेविंग स्कीम्स की वर्तमान ब्याज दरें 4.0 प्रतिशत से 7.6 प्रतिशत तक है।

किन योजनाओं में बढ़ोतरी

सरकार ने 1 वर्ष, 2 वर्ष, 3 वर्ष, 5 वर्ष की सावधि जमा के लिए ब्याज दर में वृद्धि की है। इसके अलावा वरिष्ठ नागरिक बचत योजना, मासिक आय योजना, राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र के लिए भी ब्याज दर में वृद्धि की है।

वहीं सार्वजनिक भविष्य निधि पीपीएफ और सुकन्या समृद्धि योजना जैसी छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों को जनवरी-मार्च तिमाही के लिए संशोधित नहीं किया गया है। बता दें कि नौकरी पैसा लोगों के बीच लोकप्रिय लोक भविष्य निधि (पीपीएफ) पर ब्याज 7.1 प्रतिशत है । वही बेटियों के लिए शुरू की गई सुकन्या समृद्धि योजना पर भी ब्याज दर 7.6 प्रतिशत पर रखा गया है।