लातेहार निवर्तमान सिविल सर्जन डॉक्टर हरेन चंद्र महतो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। डॉक्टर महतो पर 2 युवतियों ने अल्ट्रासाउंड करने के दौरान गलत हरकत करने का आरोप लगाया था। इसी मामले को लेकर उन पर लातेहार महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। सोमवार को डॉक्टर महतो को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

दरअसल लातेहार की दो युवतियों ने अलग-अलग आवेदन देकर थाना में मामला दर्ज कराया था। अल्ट्रासाउंड करने के दौरान डॉक्टर महतो सिविल सर्जन पद पर रहते उनके साथ गलत हरकत की थी, इस मामले को लेकर पुलिस के द्वारा लगातार छानबीन भी की जा रही थी। सोमवार को पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया। इस संबंध में लातेहार एसपी अंजनी अंजन ने बताया कि डॉक्टर को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

डॉ महतो ने आरोप को बताया बदनाम करने की साजिश

निवर्तमान सिविल सर्जन डा एस सी महतो ने अपने ऊपर लगे आरोप को पूरी तरह षड्यंत्र बताया है। उन्होंने कहा कि सिविल सर्जन बनने के बाद उन्होंने विभाग में जो सुधार करने का प्रयास किया था, उससे कुछ कर्मियों को काफी परेशानी हो गई थी। कार्य में लापरवाही बरतने के लिए कर्मियों की नौकरी दांव पर लग गई थी। इसलिए उन्हें बदनाम करने के लिए इस प्रकार का षड्यंत्र किया गया। उन्होंने कहा कि मुझे कानून पर पूरा भरोसा है। पूरे मामले की जांच के बाद सबकुछ साफ हो जाएगा। एक दिन पूर्व ही इनका स्थानांतरण उप स्वास्थ्य निदेशक के रूप में हो गया था। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

उपायुक्त ने भी डॉक्टर महतो का स्थानांतरण करने को भेजा था पत्र

युवतियों द्वारा लगाए गए आरोप के बाद उनके ऊपर पुलिस की कार्रवाई चल रही थी। इधर जिले के उपायुक्त ने विभाग को पत्र लिखकर कहा था कि डॉक्टर हरेन का स्थानांतरण अन्यत्र कर दिया जाए क्योंकि इससे विभाग की छवि बदनाम हो रही है।

डॉ महतो आवास में करते थे अल्ट्रासोनोग्राफी

डा महतो अपने आवास में अल्ट्रासोनोग्राफी करते थे। अल्ट्रासोनोग्राफी करने के दौरान ही जिले के दो युवतियों ने उन पर गंभीर आरोप लगाए थे और उनका वीडियो वायरल भी हुआ था। उस वीडियो के आधार पर महिला थाना में युवतियों ने मामला दर्ज कराया था। जिसके बाद महिला थाना की कार्रवाई के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया

Leave a comment

Your email address will not be published.