दुनिया भर में मनुष्य कार्यकलापों के कारण बढ़ते प्रदूषण और पर्यावरण की क्षति को रोकने के उद्देश्य से ही 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है और इसे मनाए जाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करना भी है।

  • पेड़ों की अंधाधुंध कटाई को रोकना,
  • जैव विविधता को बनाए रखना और विलुप्त होने वाले जीव जंतुओं का संरक्षण करना,
  • लोगों को प्रकृति और
  • पेड़ों की अंधाधुंध कटाई को रोकना,
  • जैव विविधता को बनाए रखना और विलुप्त होने वाले जीव जंतुओं का संरक्षण करना,
  • लोगों को प्रकृति और पर्यावरण के प्रति सचेत करना,
  • विश्वभर में पर्यावरण के नकारात्मक प्रभावों को रोकने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है।
  • इस अभियान की शुरुआत करने का उद्देश्य वातावरण की स्थितियों पर ध्यान केन्द्रित करने और हमारे ग्रह पृथ्वी के सुरक्षित भविष्य को सुनिश्चित करने के लिए पर्यावरण में सकारात्मक बदलाव का भाग बनने के लिए लोगों को प्रेरित करना है

विश्व पर्यावरण[World Environment Day] दिवस कब मनाया जाता है [ इतिहास]

विश्व पर्यावरण दिवस, (World Environment Day) हर साल 5 जून को मनाया जाता है| पहली बार 1974 में आयोजित यह दिवस समुद्री प्रदूषण, मानव अतिसंख्या, ग्लोबल वार्मिंग, सस्टेनेबल कंसम्पशन और वन्यजीव अपराध जैसे पर्यावरणीय मुद्दों पर जागरूकता बढ़ाने के लिए एक मंच रहा है| विश्व पर्यावरण दिवस, पर्यावरण के मुद्दे पर सार्वजनिक पहुंच के लिए एक वैश्विक मंच प्रदान करता है, जिसमें सालाना 143 से अधिक देशों की भागीदारी होती है|

 वर्ष 2022 मानव पर्यावरण पर पहले संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के 50 साल पूरे होने का प्रतीक है, जब 1972 में स्टॉकहोम सम्मेलन हुआ, जिसमें यूएनईपी की स्थापना और 5 जून को वर्ल्ड एनवायरनमेंट डे के रूप नामित किया गया।

विश्व पर्यावरण दिवस 2022 का विषय (World Environment Day 2022 Theme)

2022 में 5 जून (रविवार) को 48वां विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जा रहा है, ‘, और इसे ‘केवल एक पृथ्वी‘ (ओनली वन अर्थ) थीम के साथ मनाया जा रहा है, यह नारा प्रकृति के साथ सद्भाव में रहने पर ध्यान केंद्रित करता है।

मेजबान देश

इस साल मेजबान देश के तौर पर स्वीडन‘ को चुना गया है

नोट: हमारे पर्यावरण की स्थिति प्रदूषण और ग्लोबल वार्मिंग के कारण दिन प्रति दिन गिरती जा रही है। बेहतर भविष्य के लिए पर्यावरण की सुरक्षा के लिए हमें हमारे देश में पर्यावरण के अनुकूल विकास को बढ़ावा देना चाहिए।

पर्यावरण दिवस पर PM मोदी का संदेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी विश्व पर्यावरण दिवस पर दिल्ली के विज्ञान भवन से संबोधित कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि मुझे संतोष है कि देश में पिछले 8 साल से जो योजनाएं चल रही है, सभी में किसी न किसी रूप से पर्यावरण संरक्षण का आग्रह है. स्वच्छ भारत मिशन हो या waste to wealth से जुड़े कार्यक्रम हो, अमृत मिशन के तहत शहरों में आधुनिक सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट्स का निर्माण हो, या सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्ति का अभियान या नमामि गंगे के तहत गंगा स्वच्छता का अभियान, पर्यावरण रक्षा के भारत के प्रयास बहुआयामी रहे हैं.

Leave a comment

Your email address will not be published.