नयी दिल्ली। LIC की IPO से जुड़ी एक खबर है। LIC का शेयर कल मंगलवार को बाजार में लिस्ट होने वाला है। LIC के IPO को मार्केट में शानदार रिस्पांस मिला है, हर कैटेगरी में लोगों ने इस  IPO को हाथों हाथ लिया है। बीते सप्ताह LIC के शेयर भी अलाट हो गये, जिन्हें शेयर मिले हैं, उनके डीमैट अकाउंट में आज शेयर क्रेडिट हो जायेंगे। रिकार्ड 6 दिनों तक खुले LIC के IPO को लेकर एक बुरी खबर ये है कि ग्रे मार्केट में एलआईसी आईपीओ का प्रीमियम लिस्टिंग से पहले और गिर गया है, जिससे इस बात की आशंका है कि डिस्काउंट पर लिस्टिंग होगी।

LIC के IPO धारक के लिए चिंता की बात ये है कि सोमवार को एलआईसी आईपओ का जीपीएम शून्य से 25 रूपये तक नीचे गिर चुका है। एक समय ये ग्रे मार्केट में 92 रूपये के प्रीमियर के साथ ट्रेंड कर रहा था। जानकारों की मानें तो अभी एलआईसी आईपीओ का ग्रे मार्केट प्रीमियम शुन्य से 15 नीचे है। वहीं आईपीओ वाच पर एलआईसी आईपीओ का जीपीएम निगेटिव में 25 रूपये तक जा चुका है। मतलब साफ है कि IPO में इन्वेस्ट करने वालों को पहले दिन नुकसान उठाना पड़ सकता है।

एलआईसी ने 16,20,78.067 शेयर जारी किये थे, जिसके लिए 47,8325, 760 बोलियां लगी थी। पालिसी होलडर्स कैटेगरी में आईपीओ 6.12 गुना सब्सक्राइब किया गया। एलआईसी कर्मचारियों के लिए रिजर्व रखे दए गये हिस्से को 4.4 गुणा और रिटेल इनवेस्टर का हिस्सा 1.99 गुना सब्सक्राइब किया गया। जबकि QIB के हिस्से को 2.83 गुणा और NII के हिस्स को 2.91 गुणा सब्सक्राइब किया गया। कुल मिलाकर एलआईसी आईपीओ को 2.95 गुणा सब्सक्रिप्शन मिला।

BSE और NSE पर डिस्काउंट लिस्टिंग के बाद भी एलआईसी का मार्केट कैप 6 लाख करोड़ रूपये से ज्यादा रहने की उम्मीद है। अगर ऐसा हुआ तो एलआईसी भारत की पांचवी सबसे बड़ी पब्लिक कंपनी बन जायेगी। वैल्यूएशन के लिहाज से अगर देखें तो एलआईसी से आगे से सिर्फ रिलायंस इंडस्ट्री, टीसीएस, एचडीएफसी बैंक और इंफोसिस ही होगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.