शिमला। हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर सुरक्षा तोड़ बेसन खरीदने दुकान पर चले गये। मामला मंगलवार की शाम का है। राज्यपाल राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर NIT हमीरपुर के कार्यक्रम से लौट रहे थे। इसी दौरान अचानक उनकी नजर सड़क किनारे “ पंडिता दी दुकान” पर पड़ी। ये हमीरपुर की प्रसिद्ध बेसन की दुकान है। राज्यपाल ने दुकान देखते ही अपनी गाड़ी रोकवायी और खुद ही बेसन खरीदने दुकान पर चले गये।
दुकान के काउंटर पर उन्होंने दुकानदार को नकद पैसे दिये और बेसन खरीदे। जिस समय राज्यपाल दुकान में पहुंचे, उस वक्त दुकान के मालिक पंडित जग्रन्नाथ शर्मा और उनके बेटे निशिकांत मौजूद थे। इधर राज्यपाल के अचानक गाड़ी रोकने की बात सुनकर सुरक्षाकर्मी भी सकते में आ गये। एकबारगी तो सुरक्षाकर्मी भी नहीं समझ पाये कि आखिर राज्यपाल ने गाड़ी क्यों रोकवायी।
आपको बता दें कि बेसन की ये दुकान काफी चर्चित है। यहां दूर-दूर से लोग बेसन के लिए आते हैं। त्योहार में तो इस दुकान से बेसन के लिए लंबी-लंबी कतार लग जाती है। इस दुकान की चर्चा राज्यपाल ने भी सुनी थी, लिहाजा आज जब उन्होंने खुद इस दुकान को देखा तो दुकान से बेसन खरीदने से खुद को नहीं रोक सके।
इधर दुकान मालिक भी राज्यपाल को इस तरह सामान्य ग्राहक बनकर दुकान में देख हैरान रह गये। दुकानदार भी पहले राज्यपाल को पहचान नहीं पाया, लेकिन जब गर्वनर ने खुद अपना परिचय दिया तो दुकान के मालिक भी हैरान रह गये।

Leave a comment

Your email address will not be published.