रांची। रांची में शुक्रवार को हुई हिंसा के बाद अब राजधानी के हालात धीरे-धीरे सामान्य हो रहे हैं। जांच में ये बात सामने आयी है कि हिंसा से पहले एक व्हाट्सएप ग्रुप बना था, इस ग्रुप का नाम “वासेपुर गैंग” था। इस व्हाट्सएप ग्रुप का इस्तेमाल इस हिसा के पूर्व किया गया था। पुलिस की टीम अब इस व्हाट्सएप ग्रुप का इस्तेमाल करने वाले लोगों और ग्रुप के एडमिन की कर रही है।

रांची में अब इंटरनेट सेवा बहाल है, लेकिन 6 थाना क्षेत्र में अभी भी धारा 144 लागू है। पुलिस अभी भी मुस्तैदी के साथ लगी हुई है। पुलिस की हर गतिविधि पर नजर है। पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि लोगों को इकट्ठा करने और उन्हें भड़काने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया गया था। इसी जांच की कड़ी में ये बातें आयी है कि वासेपुर गैंग नाम का ग्रुप इस पूरे हिंसा की प्लानिंग में इस्तेमाल हुआ है। इसी व्हाट्सएप ग्रुप में ही पूरी प्लानिंग शेयर की गयी थी।

आपको बता दें कि शुक्रवार को अचानक से रांची में माहौल तनावपूर्ण हो गया था। भीड़ प्रदर्शन के दौरान हिंसक हो गयी थी। आगजनी, पत्थरबाजीर जैसी घटना को देखते हए पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। हालांकि दावा ये भी किया गया कि भीड़ की तरफ से भी गोलियां चली थी, लेकिन इन तमाम मामलों पर जांच के बाद ही स्थिति साफ हो पायेगी। हिंसा में 2 लोगों की मौत हो गयी, वहीं कई लोग घायल हो गये।

Leave a comment

Your email address will not be published.