नेहा कुमारी @HPBL.CO.IN

धनबाद: शिक्षक की नौकरी के प्रति आज के युवाओं का काफी क्रेज है। वो वक्त गुजर गया जब शिक्षक की नौकरी युवाओं को बोरिंग और कम सैलरी वाली जाब मालूम होती थी। आज के वक्त में शिक्षक की नौकरी में आकर्षक सैलरी है तो ड्यूटी भी नियत वक्त की तय है।  लिहाजा शिक्षक करने वाला पुरूष या महिला बहुत अच्छे तरीके से नौकरी और घर दोनों मैनेज कर लेता है।

वक्त के साथ शिक्षक की नौकरी में सहूलियत और सैलरी बढ़ी है तो बढ़ते क्रेज ने टीचर सेलेक्शन के प्रोसेस को भी पेचिदा बनाया है। पहले शिक्षक के पर पर टीचर्स ट्रेनिंग के बाद सीधी नियुक्ति होती थी, बाद में बीएड और डीएलएड करने वाले को ही शिक्षक की नौकरी मिलने लगी। अब बीएड और डीएलएड के साथ टीईटी पास करना भी अनिवार्य कर दिया गया है। कई राज्यों में तो अब उससे भी एक स्टेप आगे की चयन प्रक्रिया अपनायी जा रही है, जिसके तहत, बीएड या डीएलएड के साथ अब टीईटी पास और फिर इंट्रेस एग्जाम लिया जाने लगा है।

CTET और STET का FULL FORM

आज हम आपको बतायेंगि की आखिरकार CTET और STET एग्जाम क्या होता है. ( What is CTET Exam in Hindi)। CTET के लिए क्या योग्यता होनी चाहिये। CTET की एग्जाम का पैटर्न क्या है। सीटीईटी करने के बाद आप अपने करियर में क्या कर सकते हैं।

टीचर की नौकरी के पाने के लिए दो तरीके की परीक्षाएं पास करनी होती है। पहली CTET और दूसरा STET। CTET Ka Full Form  ( सीटीईटी का फुल फार्म) होता है Central Teacher  Eligibility Test  और STET KA FULL FORM (एसटीईटी का फुल फार्म) STATE TEACHER ELIGIBILITY TEST होता है। दोनों परीक्षाएं साल में दो-दो बार होती है। CTET EXAM CBSE BOARD की तरफ से आयोजित की जाती है। इस परीक्षा के लिए ctet.nic.in WEBSITE में जाकर आनलाइन आवेदन करना होता है।

STET में कितने अंक लाने होते हैं

  • STET परीक्षा पास होने के लिए अलग-अलग वर्गों के लिए अलग-अलग अंक निर्धारित हैं। SC/ST/OBC के लिए 55% अंक चाहिये। ST/ST के 150 में से 82 अंक आना चाहिये। OBC के लिए 150 में 82 अंक चाहिये।
  • सामान्य वर्ग के लोगों को 60 फीसदी अंक लाने जरूरी होते हैं। 150 अंकों की कुल परीक्षा में 90 नंबर लाने जरूरी होते हैं।
  • प्रत्येक प्रश्न के लिए 1-1 अंक निर्धारित होता है।
  • निगेटिव मार्क्स नहीं होता है, लिहाजा गलत होने पर अंक नहीं काटा जाता है।

कब होती है परीक्षा

STET और CTET दोनों परीक्षाएं आफलाइन होती है। साल में दो-दो बार परीक्षा होती है। ये परीक्षा साल के जुलाई और दिसंबर में होती है। एक बार परीक्षा पास कर लेने पर अब इसकी वैध्यता पूरे जीवन भर होती है। मतलब आपने अगर एक बार टीईटी पास कर लिया है, तो फिर आपको टीईटी पास करने की जरूरत नहें होगी। ये वैधता पहले सिर्फ 7 सालों के लिए होती थी। 2021 में 16 दिसंबर 2021 को CTET की परीक्षा हुई था, जिसका परिणाम 9 मार्च 2022 को आया। इस बार भी जुलाई में CTET की परीक्षा होनी है। हालांकि पिछले साल कोरोना की वजह से सीटीईटी सिर्फ एक बार ही आयोजित की गयी थी। जो अभ्यर्थी CTET के लिए अप्लाई करना चाहते हैं, वो आवेदन के लिए तैयार रहें। परीक्षा में पेपर-1 और पेपर-2 की च्वाइस होती है। कोई अभ्यर्थी अगर 1 से 5 कक्षा के लिए एग्जाम देना चाहते हैं, तो उन्हें पेपर-1 देना होता है, जबकि जो 6-8 में सेलेक्शन के लिए परीक्षा देना चाहते हैं, वो पेपर-2 एग्जाम देते हैं।

कितने अंकों की होती है परीक्षा

फर्स्ट लेवल की परीक्षा कुल 150 अंकों की होती है। इसमें प्रत्येक सवाल के लिए एंक अंक निर्धारित होती है। परीक्षा के लिए कुल 2.30 घंटे का वक्त निर्धारित होता है। इस परीक्षा में 30 अंक हिंदी, 30 अंक इंग्लिश, 30 अंक बाल विकास, 30 अंक पर्यावरण और 30 अंक गणित के होते हैं।

वहीं सेकंड लेवल की परीक्षा भी 150 अंक की होती है। इस परीक्षा में भी ढ़ाई घंटे का वक्त निर्धारित होता है। इतने ही समय में आपके सवाल हर करने होते हैं। इस परीक्षा में भी 30 अंक हिंदी, 30 अंक गणित, 30 अंक सामाजिक विज्ञान, 30 अंक बाल विकास और 30 अंक विज्ञान से पूछे जाते हैं।

एसटीईटी की परीक्षा किस तरह होती है

STET के लिए तो CBSE की तरफ से परीक्षा ली जाती है, लेकिन आप अगर STET देना चाहते हैं तो एसटीईटी यानि STATE TEACHER ELIGIBILITY TEST के लिए हर राज्य की परीक्षा लेने की एंजेंसी अलग होती है। छत्तीसगढ़ में ये परीक्षा व्यावसायिक परीक्षा मंडल लेता है, मध्यप्रदेश में भी ये परीक्षा व्यापम लेता है, जबकि बिहार, झारखंड सहित अन्य राज्यों में अलग-अलग एजेंसियां परीक्षा लेती है। आप जिस भी राज्य के अभ्यर्थी हैं आप अपने राज्य की उस परीक्षा एजेंसी की गाइडलाइन और आनलाइन साइट का जरूर मुआयना करे, ताकि आपको परीक्षा के संबंध में जानकारी मिलती रही।

परीक्षा पास कर शिक्षक की नौकरी की मिलती है योग्यता

आज देश भर में शिक्षकों की कमी है। राज्य सरकार भी लगातर स्कूलों को खोल रही है, तो वहीं केंद्र सरकार की भी सेंट्रल स्कूल, नवोदय स्कूल सहित अन्य स्कूल हैं, जहां अब CTET पास कर नौकरी के लिए आवेदन कर सकते हैं। वहीं STET पास कर आप राज्य सरकार द्वारा संचालित स्कूलों में शिक्षक की नौकरी के लिए अहर्ता पा जाते हैं। अगर आप सरकारी नौकरी के लिए आवेदन नहीं करना चाहते हैं या फिर आपको मनोपसंद जाब नहीं मिल रही है, तो आप प्राइवेट स्कूलों में भी टीचर की नौकरी के आवेदन कर र सकते हैं। बीएड और डीएलएड की डिग्री के साथ एसटीईटी और सीटीईटी पास अभ्यर्थियों को निजी संस्थान भी काफी तवज्जो देता है और अच्छी सैलरी आफर करता है।

CTET और STET की कैसे करें तैयारी

परीक्षा वस्तुनिष्ट तरीके से होती है, मतलब आपको एक सवाल के चार आप्शन मिलेंगे। जिनमें एक सही सवाल को आपको चुनना है। परीक्षा पास करने लिए आपको तय अंक हर हाल में हासिल करने होंगे। परीक्षा पास करते ही आपके लिए जाब के रास्ते तो खुल जाते हैं, लेकिन इसकी परीक्षा की तैयारी में ध्यान रखना आसान है। सबसे पहले आपको सिलेबस का ख्याल रखना होगा। आप किस पेपर की परीक्षा देना चाहते हैं, उसका सिलेबस जरूर पढ़ लें। वहीं बीएड और डीएलएड की पढ़ाई के दौरान जिन किताबों का आपने अध्ययन किया है, उसका रिवीजन जरूर करें। परीक्षा के वक्त अलग-अलग प्रकाशन के क्योश्चन पेपर साल्व करने के लिए उपलब्ध होते हैं। कम से कम हर दिन 1 पेपर को जरूर साल्व करें। इससे ना सिर्फ आपका अच्छा रिविजन हो जायेगा, बल्कि समय को मैंटेन रखने में भी काफी काफी सहुलियत मिलेगी। इसके अलावा हर दिन अखबार जरूर पढ़े। इससे आपको समसामयिक विषयों की जानकारी होगी। वहीं इंग्लिश को मजबूत करने के लिए इंग्लिश का न्यूज पेपर पढ़े, ताकि आपकी शब्दावली स्ट्रोंग हो सके।

Leave a comment

Your email address will not be published.