दिल्ली; केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने इस्तीफा दे दिया है ,वे अल्पसंख्यक विभाग संभाल रहे थे मुख्तार राज्यसभा के सदस्य थे उनका कार्यकाल खत्म होने जा रहा था। नकवी को इस बार बीजेपी ने राज्यसभा सदस्य नहीं बनाया है ,माना जा रहा है कि पार्टी उन्हें बड़ी जिम्मेदारी दे सकती है ।

दरअसल मोदी सरकार के दो मंत्रियों के राज्यसभा सदस्य का कार्यकाल गुरुवार को खत्म हो रहा है, इनमें मुख्तार अब्बास नकवी के अलावा जदयू कोटे से आरसीपी सिंह का नाम शामिल है। यह दोनों नेता फ़िलहाल 6 जुलाई के बाद किसी भी सदन के सदस्य नहीं होंगे।

मोदी मंत्रिमंडल में 8 साल से थे मुख्तार

नकवी 2010 से 2016 तक यूपी से राज्यसभा सदस्य रहे हैं। 2016 में हुए झारखंड से राज्यसभा भेजे गए ,नकवी पहली बार 1988 में लोकसभा का चुनाव जीते और अटल बिहारी वाजपेई सरकार में सूचना और प्रसारण मंत्रालय में राज्य मंत्री बनाए गए थे। उसके बाद 26 मई 2014 में मोदी सरकार में अल्पसंख्यक मामलों और संसदीय मामलों के राज्य मंत्री बने। 12 जुलाई 2016 को नजमा हेपतुल्ला के इस्तीफे के बाद उन्हें अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय का स्वतंत्र प्रभार मिला ।30 मई 2019 को मोदी कैबिनेट में शामिल हुए और अल्पसंख्यक मामलों का मंत्रालय बना रहा ।

सूत्रों ने बताया कि मंत्री बुधवार को अपना इस्तीफा प्रधानमंत्री को सौंपेंगे। कैबिनेट की बैठक के तुरंत बाद नकवी ने यहां पार्टी मुख्यालय में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की ।भाजपा के वरिष्ठ नेता नकवी राज्यसभा के उप नेता भी हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.