टाटा पावर ग्रिड के 3 टॉप अफसर सीबीआई द्वारा घूस लेने के आरोप में आज गिरफ्तार कर लिया गया है। छापेमारी के दौरान 93 लाख रुपए भी प्राप्त हुई है।

केंद्रीय जांच एजेंसी द्वारा यह बात सामने आई है कि टाटा पावर ग्रिड कॉर्पोरेशन के तीन उच्च अधिकारी देशराज पाठक आरएनसी और बीएस झा पर रिश्वत लेने का आरोप लगाया गया है इन अधिकारियों ने ईटानगर में एक ठेकेदार से रिश्वत देने की मांग की थी ,जिसके बाद इस मामले की सीबीआई द्वारा जांच पड़ताल शुरू कर दी गई। सीबीआई ने इस मामले की तह तक पहुंचने के लिए 6जगह पर छापामारी की थी जिसके फलस्वरूप एक आवास से 93लाख रुपए बरामद किए गए। सीबीआई ने दिल्ली ,गुरुग्राम, नोएडा और गाजियाबाद में छापेमारी की थी । इस मामले में अब तक 6 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

इससे पहले भी 6 जुलाई को करप्शन के एक मामले में सीबीआई ने 5 शहरों के सोलर ठिकानों पर छापेमारी की थी जिसमें जम्मू श्रीनगर दिल्ली मुंबई और पटना जैसे बड़े शहर शामिल है सीबीआई का छापा जम्मू कश्मीर के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक के आरोप के दौरान किया जा रहा है सत्यपाल मलिक पर अप्रैल में किस्वत वार् जिले के तिरु हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट लिमिटेड के सिविल वर्क का ठेका देने में रिश्वतखोरी का आरोप लगा था।

Leave a comment

Your email address will not be published.