देवघर। दो साल के बाद इस साल फिर से बाबा धाम गुलजार होगा। कोरोना के केस कम होते देख इस साल राज्य सरकार ने श्रावणी मेला को हरी झंडी दे दी है। विश्व प्रसिद्ध श्रावणी मेला के आयोजन को लेकर राज्य सरकार और जिला प्रशासन ने अपने-अपने स्तर से तैयारी शुरू कर दी ह । मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरूण कुमार सिंह देवघर पहुंचे और देवघर के उपायुक्त व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की।

बैठक में अपर मुख्य सचिव ने जिला प्रशासन को निर्देश दिया है कि मेला के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग की टीम खासकर पारा मेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस, ट्रामा सेंटर व इमरजेंसी सेंटर को तैयार रखें। डाक्टर व हेल्थ स्टाफ की बैकअप टीम को भी तैयार रखने के निर्देश दिये गये हैं।

अपर मुख्य सचिव ने इस बात के निर्देश दिये हैं कि श्रावणी मेला को लेकर इमरजेंसी मेडिकल डायरेक्टरी तैयार करें। इस डायरेक्टरी में सभी अस्पताल के नाम, प्रभारी के नाम और नंबर के साथ-साथ आयुष्मा योजना का लाभ देने वाले अस्पतालों के नाम और नंबर अनिवार्य रूप से शामिल रहें। अपर मुख्य सचिव ने निर्देश दिया है कि अगर स्वास्थ्य अमले की कोई कमी है, तो तत्काल राज्य सरकार को इसकी सूचना दें। दो महीने के लिए आउट सोर्सिंग पर कर्मियों की व्यवस्था की जायेगी। सदर अस्पताल में इमरजेंसी सेवा बहाल करने को भी कहा गया है।

मेला के पूर्व तैयारी का जायजा लेने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम को माक ड्रिल की व्यवस्था करने को कहा गया है, ताकि अचानक से आपात स्थिति आ जाये, तो उसकी तैयारी को परखा जा सके। श्रद्धालुओं को बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था मिल सके, इसकी तैयारी के विस्तृत निर्देश दिये गये हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.