दरभंगा। नकली दारोगा को दरभंगा पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस वर्दी में खुद को दारोगा बताकर ये शातिर वाहन मालिक को रोकता था और फिर उनके रुपये की वसूली करता था। नकली दारोगा का नाम अशोक कुमार है। इस शातिर ने तीन बार दारोगा की परीक्षा दी, लेकिन पास नहीं हो पाया, जिसके बाद वो फर्जी ट्रैफिक दरोगा बनकर वसूली करना शुरू कर दिया। जानकारी के मुताबिक मिर्जापुर, दोनार जैसी जगहों पर वो वसूली का काम करता था।

खुद की पहचान छुपाने के लिए वो हमेशा मास्क लगाये रहता था। पुलिस ने उसे मिर्जापुर चौक से वसूली करते हुए रंगे हाथ पकड़ा है। पुलिस की पूछताछ में अशोक ने बताया कि दरोगा की परीक्षा में तीन बार फेल हो गया था, लेकिन अब गिरफ्तारी के बाद वो जेल में आराम से पढ़ाई करेगा और दारोगा बनकर दिखायेगा।

जानकारी के मुताबिक फर्जी दारोगा नो एंट्री का उल्लंघन करने वालों वाहन मालिक को रोकता था और रुपए वसूल कर लेता था। इस दौरान वह गश्ती गाड़ी को देखकर छुप जाता था। यातायात थानाध्यक्ष कुमार गौरव ने अशोक को नगर थाना को सौंप दिया है। आरोपी के खिलाफ नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। फर्जी दारोगा का कहना है कि अब वो बीपीएससी की परीक्षा देगा और बड़ा अफसर बनकर दिखायेगा।

हर खबर आप तक सबसे सच्ची और सबसे पक्की पहुंचे। ब्रेकिंग खबरें, फिर चाहे वो राजनीति...