पटना। बिहार में TET को लेकर 24 घंटे के भीतर फैसला बदल गया है। कल शिक्षा निदेशक ने TET नहीं लेने की बात कही थी, लेकिन आज शिक्षा मंत्री ने इस मामले में नया बयान जारी कर दिया है। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने इस बाबत अपने बयान में कहा है कि शिक्षा विभाग के फैसले को समझने में लोगों को गलती हुई है। सरकार ने सिर्फ सातवें चरण की शिक्षक बहाली में जल्द पूरा करने केलिए टीईटी के आयोजन नहीं करने का फैसला लिया है

शिक्षा मंत्री ने कहा है कि सातवें चरण में शिक्षक बहाली के लिए टीईटी लेने पर बहाली में विलंब हो जायेगा। इसे देखते हुए केवल सातवें चरण तक टीईटी नहीं कराने का फैसला लिया गया था। अभी तक के नियम के मुताबिक शिक्षक भर्ती के लिए अभ्यर्थी को CTET या फिर TET पास होना जरूरी होता है। अभी की रिक्तियों को देखें दोनों परीक्षा के पास किये छात्रों की संख्या पर्याप्त है।

शिक्षा मंत्री ने साफ कर दिया है कि राज्य में टीईटी को बंद करने जैसा कोई निर्णय नहीं किया गया है। सिर्फ सातेवं चरण के लिए सरकार टीईटी नहीं लेगी। भविष्य में टीईटी पर रोक की कोई बात नहीं है।

Leave a comment

Your email address will not be published.