तेलंगाना के वरिष्ठ भाजपा नेता जी. नारायण रेड्डी ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है कि निर्माता-निर्देशक रामगोपाल वर्मा ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर एनडीए के राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के बारे में अपमानजनक टिप्पणी पोस्ट की है. हैदराबाद पुलिस ने भी शुक्रवार को कहा कि राष्ट्रपति पद के लिए एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के खिलाफ कथित अपमानजनक टिप्पणी के लिए फिल्म निर्माता रामगोपाल वर्मा के खिलाफ जल्द ही एक आपराधिक मामला दर्ज किया जा सकता है।

भाजपा नेता गुडूर नारायण रेड्डी ने पुलिस से एससी/एसटी अत्याचार अधिनियम के तहत रामगोपाल वर्मा के खिलाफ मामला दर्ज करने का अनुरोध किया और कड़ा एक्शन लेने की मांग की।

क्या कहा था रामगोपाल वर्मा ने

दरअसल रामगोपाल वर्मा ने ट्वीट करते हुए कहा था, ‘अगर द्रौपदी राष्ट्रपति हैं तो पांडव कौन हैं? और इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि कौरव कौन हैं?’ इस विवादास्पद ट्वीट के बाद हंगामा खड़ा हो गया। तेलंगाना भाजपा नेता गुडूर नारायण रेड्डी ने राम गोपाल वर्मा के खिलाफ आबिद रोड पुलिस स्टेशन में एससी और एसटी समुदाय का अपमान करने का आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज कराई।

रेड्डी ने कहा, ‘

यह ट्वीट एससी और एसटी लोगों का अपमान करने के समान है। यहां, वह द्रौपदी को राष्ट्रपति कहते हैं। अगर उन्होंने केवल द्रौपदी, पांडवों और कौरवों का उल्लेख किया होता, तो हमें कोई आपत्ति नहीं होती। हम लोग राम गोपाल वर्मा की इस टिप्पणी से आहत हुए हैं।’

बता दें द्रौपदी मुर्मू ने एक दिन पहले शुक्रवार को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में अपना नामांकन पत्र दाखिल किया है. प्रधानमंत्री मोदी ने संसद भवन परिसर स्थित राज्यसभा महासचिव के कार्यालय में निर्वाचन अधिकारी पी.सी. मोदी को मुर्मू के नामांकन पत्र सौंपे. मुर्मू के साथ नामांकन दाखिल करने के दौरान बीजेपी के वरिष्ठ नेता अमित शाह, राजनाथ सिंह, जे.पी. नड्डा, कई राज्यों के मुख्यमंत्री और सहयोगी दलों के नेता भी मौजूद थे.

Leave a comment

Your email address will not be published.