रांची। राजधानी में शुक्रवार को हुई हिंसक झड़प में दो लोगों की मौत हो गयी, वहीं 10 से ज्यादा लोग घायल हो गये। राज्य सरकार ने शुक्रवार मेन रोड पर हुए हिंसक झड़प मामले में जांच के आदेश दिये हैं। दो सदस्यीय जांच टीम एक सप्ताह के भीतर मामले की जांच रिपोर्ट सरकार को सौंपेगी। राज्य सरकार ने जो दो सदस्यीय जांच टीम बनायी है, उसनमें सचिव अमिताभ कौशल और अपर पुलिस महानिदेशक संजय लाटकर शामिल हैं। शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा के बाद से रांची मेन रोड पर धारा 144 लागू है।

राज्य सरकार ने ऐहितियात के तौर पर इंटरनेट सेवा बंद कर दी थी। लोगों को आदेश दिया गया था, कि जब तक जरूरी ना हो घरों से बाहर ना निकले। इधर घटना के बाद शहर में कई जगहों पर दुकाने बंद रही। वहीं चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल की तैनाती की गयी थी। आने-जाने वाले लोगों से पुलिस लगातार पूछ रही थी, वहीं तफरी के लिए सड़क पर निकले लोगों को भी पूछताछ के लिए रोका जा रहा था। लिहाजा आज सड़के सुनसान रही, लोग आम दिनों की अपेक्षा काफी कम घरों से निकले। अधिकांश दुकानें बंद ही रही।

भाजपा की निलंबित नेता नुपूर शर्मा के बयान को लेकर शुक्रवार को मेन रोड पर हिंसा भड़ गयी थी। पुलिस को भीड़ नियंत्रित करने के लिए गोलियां चलानी पड़ी थी। पुलिसकर्मी भी इस दौरान काफी संख्या में घायल हुए थे। उपद्रवियों ने इस दौरान पुलिस की कई गाड़ियों को तोड़ लिया। वहीं दुकानों में भी तोड़फोड़ गयी। पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए गोलियां चलायी, इस घटना में दो लोगों की मौत भी हुई। हिंसा ना भड़के इसलिए इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया गया है।

Leave a comment

Your email address will not be published.