रांची। ….आज मौका भी है और दस्तूर भी!…! उधर मांडर उपचुनाव में महागठबंधन को जीत की खुशबू महसूस हो रही है….और इधर राज्य भर के कर्मचारियों के दिल में पुरानी पेंशन की जीत की उम्मीद और बलवान हो गयी है। माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को जैसे ही कांग्रेस प्रत्याशी नेहा तिर्की की जीत की खबर मिलेगी, मुख्यमंत्री का काफिला महासम्मेलन की मंच पर तरफ रवाना हो जायेगा। खबर है कि मुख्यमंत्री उसी पल की इंतजार भी कर रहे थे, क्योंकि परिणाम जारी होते ही आचार संहिता की बाध्यता भी लगभग खत्म हो जाती है। ऐसे में मुख्यमंत्री को पुरानी पेंशन बहाली में कोई अड़चन नहीं रह जायेगी।


आज मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन मोरहाबादी मैदान में महासम्मेलन के महामंच से पुरानी पेंशन बहाली का ऐलान कर देंगे। हालांकि ये जरूर कहा जा रहा था कि अभी विधि से फाईल मुख्यमंत्री के पास नहीं आयी है, जिसके बाद फाइल को कैबिनेट में मूव कराना है। लेकिन, कई दफा ऐसा रहा है जब मुख्यमंत्री ऐलान पहले कर देते हैं कैबिनेट से उसका एप्रूवल बाद में लिया जाता है। सरकारी सूत्रों के मुताबिक इस बात की पूरी उम्मीद है कि आज मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन रांची के मोरहाबादी मैदान को ऐतिहासिक बना देंगे।


हेमंत सोरेन ने हालांकि पहले इस बात के संकेत दे दिये हैं कि पुरानी पेंशन बहाली को लेकर अब वादा निभाने का वक्त आ गया है। वादा की बात इसलिए भी मुख्यमंत्री कह रहे हैं क्योंकि पुरानी पेंशन बहाली को जेएमएम ने अपने घोषणा पत्र में शामिल किया था। जेएमएम की इस घोषणा के बाद कर्मचारियों ने दिल खोलकर झारखंड मुक्ति मोर्चा को समर्थन किया और नतीजा जेएमएम की सरकार बनी। लिहाजा मुख्यमंत्री कर्मचारियों के उस एहसान का बदला चुकाने की तैयारी में है।


प्रदेश भर से हजारों कर्मचारी आज मोरहाबादी में पहुंचे हुए हैं। NMOPS के बैनर तले आयोजित होने वाले इस महासम्मेलन को लेकर कर्मचारी पूरी आशा में है कि मुख्यमंत्री आज उन्हें खाली हाथ नहीं लौटायेंगे। मुख्यमंत्री का इंतजार महासम्मेलन का महामंच बड़ी ही बेसब्री से कर रहा है। उस पल के इंतजार में कर्मचारी पलक पावड़े बिछाये बैठे हैं, जब मुख्यमंत्री ये ऐलान करेंगे… कि राज्य में पुरानी पेंशन लागू होगी। ….तो बस इंतजार कीजिये… और महासम्मेलन से जुड़े अपडेट के लिए हमारे साथ बने रहिये।

Leave a comment

Your email address will not be published.