रांची। झारखंड में पुरानी पेंशन की बहाली तय हो गयी है। 26 जून को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन इसका औपचारिक ऐलान कर देंगे। खुद हेमंत सोरेन ने अपने ट्वीट से इस बात के संकेत दिये हैं। मुख्यमंत्री ने NMOPS के प्रांतीय पदाधिकारी से मुलाकात को लेकर किये ट्वीट में साफ कह दिया है कि

पुरानी पेंशन बहाली को लेकर जो वादा किया था, उस वादे को निभाने का वक्त आ गया है।

आपको बता दें कि NMPOS के बैनर तले झारखंड के कर्मचारियों ने लंबा संघर्ष किया। कई दौर के ज्ञापन प्रदर्शन, रैली और सोशल मीडिया कैंपेनिंग के जरिये राज्य सरकार का ध्यान आकृष्ट कराया। इस दौरान मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने भी कर्मचारी हित में फैसले लेने के संकेत दिये थे। मुख्यमंत्री ने तो पुरानी पेंशन बहाली के संकेत दे दिये थे, लेकिन विभागीय स्तर पर कोई पहल नहीं हो रही थी, जिसके बाद 26 जून को NMOPS झारखंड की तरफ से जयघोष महासम्मेलन का आयोजन करने का ऐलान किया गया।

NMOPS झारखंड के प्रांतीय अध्यक्ष विक्रांत सिंह की अगुवाई में आज मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से प्रांतीय प्रतिनिधिमंडल मिला। इस दौरान महासम्मेलन का पोस्टर लांच किया गया। मुख्यमंत्री हेमत सोरन ओपी से एनएमओपीएस के उसी प्रतिनिधिमंडल के साथ अपने फोटो को ट्वीट किया है। मुख्यमंत्री ने अपने ट्वीट में लिखा है…।

पुरानी पेंशन योजना की बहाली के लिए सरकारी कर्मचारियों ने लंबा संघर्ष किया है। मैंने भी पुरानी पेंशन बहाल करने का वादा किया था । अब समय आ गया है वादा निभाने का…

आपको बता दें कि झाऱखंड के मोहराबादी मैदान में आयोजित होने वाले जयघोष महासम्मेलन में खुद मुख्यमंत्री हेमंत सोरने भी शिरकत करेंगे। मुख्यमंत्री के साथ कुछ और मंत्री और जनप्रतिनिधि भी मौजूद रहेंगे। इस महासम्मेलन की पूरजोर तैयारी प्रदेश स्तर पर हो रही है। प्रत्येक जिलों के हजारों की संख्या में 26 जून को रांची कूच करने की तैयारी में है। ऐसे में ये उम्मीद तो पहले से ही थी कि जयघोष महासम्मेलन में कर्मचारी हित में इतिहास लिखा जायेगा। आज मुख्यमंत्री के ट्वीट से स्पष्ट हो गया है कि मुख्यमंत्री 26 जून को इसका औपचारिक ऐलान कर देंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.