क्रिकेट में फिर मैच फिक्सिंग, तीन भारतीय समेत 8 लोगों पर आरोप, जानिये कौन सा मैच था फिक्स, क्या है पूरा आरोप

नयी दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने मैच फिक्सिंग के रैकेट का खुलासा किया है। 2021 एमिरेट्स टी-10 लीग के दौरान भ्रष्ट गतिविधियों में शामिल होने के लिए कई खिलाड़ियों, अधिकारियों और कुछ भारतीय टीम मालिकों पर गंभीर आरोप लगे हैं। यह आरोप 2021 अबूधाबी टी10 लीग के संबंध में हैं। यह टूर्नामेंट 19 नवंबर 2021 से चार दिसंबर 2021 के बीच हुआ था। इस टूर्नामेंट में छह टीमें खेलीं थीं। इसमें 3 भारतीयों समेत 8 लोगों को आरोपी बनाया गया है.

दरअसल, ICC ने 2021 यूएई टी10 लीग के दौरान हुई भ्रष्ट गतिविधियों को लेकर जांच की. इसके बाद आईसीसी ने इन गतिविधियों में शामिल होने के लिए 8 खिलाड़ियों, अधिकारियों और कुछ भारतीय टीम मालिकों पर विभिन्न आरोप लगाए हैं.

कौन हैं तीन भारतीय, जिन पर आरोप लगे?

दो भारतीय सह मालिक पराग संघवी और कृष्ण कुमार हैं. ये दोनों टीम पुणे डेविल्स के सह मालिक हैं और उस सीजन में इनके एक खिलाड़ी बांग्लादेश के पूर्व टेस्ट बल्लेबाज नासिर हुसैन पर भी लीग की भ्रष्टाचार रोधी संहिता के उल्लंघन के आरोप लगे हैं. भ्रष्ट गतिविधियों में शामिल होने वाला तीसरा भारतीय एक अंजान सा बल्लेबाजी कोच है, जिसका नाम सन्नी ढिल्लों है. आईसीसी ने कहा, 'आरोप 2021 अबु धाबी टी10 क्रिकेट लीग और उस टूर्नामेंट में मैचों को भ्रष्ट करने के प्रयासों से संबंधित हैं. इन प्रयासों को बाधित किया गया था. आईसीसी को इस टूर्नामेंट के लिए ECB ने नामित भ्रष्टाचार विरोधी अधिकारी (DACO) के रूप में नियुक्त किया गया था और इस प्रकार ईसीबी की ओर से ये आरोप जारी किए जा रहे हैं.'

मैच फिक्स करने की कोशिश करने के आरोप

पराग संघवी पर मैच के नतीजों और अन्य पहलुओं पर सट्टा लगाने एवं जांच एजेंसी के साथ सहयोग नहीं करने के आरोप लगे हैं। इसके अलावा कृष्ण कुमार पर डीएसीओ से चीजों को छिपाने के आरोप हैं, जबकि ढिल्लों पर मैच फिक्स करने की कोशिश करने के आरोप हैं।

नासिर पर तोहफे की जानकारी का खुलासा नहीं करने का आरोप

वहीं, बांग्लादेश के लिए 19 टेस्ट और 65 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय खेलने वाले नासिर हुसैन पर डीएसीओ को 750 डॉलर से ज्यादा के तोहफे की जानकारी का खुलासा नहीं करने का आरोप लगा है। जिन अन्य लोगों को सस्पेंड किया गया है, उनमें बल्लेबाजी कोच अजहर जैदी, टीम मैनेजर शादाब अहमद और यूएई के घरेलू खिलाड़ी रिजवान जावेद, सालिया समन शामिल हैं।
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने मैच फिक्सिंग के रैकेट का खुलासा किया है। 2021 एमिरेट्स टी-10 लीग के दौरान भ्रष्ट गतिविधियों में शामिल होने के लिए कई खिलाड़ियों, अधिकारियों और कुछ भारतीय टीम मालिकों पर गंभीर आरोप लगे हैं। यह आरोप 2021 अबूधाबी टी10 लीग के संबंध में हैं। यह टूर्नामेंट 19 नवंबर 2021 से चार दिसंबर 2021 के बीच हुआ था। इस टूर्नामेंट में छह टीमें खेलीं थीं।
जिन लोगों पर आरोप लगाया गया उनमें दो भारतीय सह मालिक पराग संघवी और कृष्ण कुमार भी शामिल हैं। यह दोनों पुणे डेविल्स टीम के सह मालिक हैं। दोनों के अलावा इनके ही एक खिलाड़ी बांग्लादेश के पूर्व टेस्ट बल्लेबाज नासिर हुसैन पर भी लीग में भ्रष्टाचार रोधी संहिता के उल्लंघन के आरोप लगे हैं।

HPBL Desk
HPBL Desk  

हर खबर आप तक सबसे सच्ची और सबसे पक्की पहुंचे। ब्रेकिंग खबरें, फिर चाहे वो राजनीति की हो, खेलकूद की हो, अपराध की हो, मनोरंजन की या फिर रोजगार की, उसे LIVE खबर की तर्ज पर हम आप तक पहुंचाते हैं।

Related Articles

Next Story