मुंबई। एक्टर शाहरूख खान के बेटे आर्यन खान को ड्रग्स केस में क्लिन चिट मिल चुकी है। आर्यन खान के वकील सतीश मानशिंदे ने आर्यन खान के ड्रग्स केस के बाद रिया चक्रवर्ती और शौविक चंक्रवर्ती ड्रग्स केस में भी वही इन्कावयरी की डिमांड की है, जो आर्यन खान के केस में की गयी है। रिया और शौविक के पास भी ड्रग्स नहीं पाये गये थे, उनका कोई टेस्ट नहीं हुआ था।

सतीश मानशिंदे ने स्टेटमेंट में कहा कि मैं इस केस के पालटिकल एंगल पर कोई कमेंट नहीं करना चाहता या इस पर भी बात नहीं करना चाहता है, जो नवाब मलिक ने कहा है। मैं केवल एक वकील हूं, करीब तीन-चार आफिसर्स ऐसे थे, जिन्होंने केस में उस तरीके से एक्शन लिया जो नही लिया जाना चाहिये था। उसकी जरूरत भी नहीं थी। नहीं पता कि आखिर उन्होंने ऐसा क्यों किया। शाहरूख खान के परिवार के लिए यह बहुत बड़ी राहत है। वे सभी काफी मुश्किलों से गुजरे हैं। मैं पीएम मोदी से गुजारिश करना चाहूंगा कि इस केस पर ध्यान दें। सभी बातों को करीब से देखा जाना चाहिये। यह एक राज्य या सेंटर का मुद्दा नहीं है।

सतीश मानशिंदे ने कहा है कि पिछले तीन सालों में एनसीबी ने कई लोगों को परेशान किया है। इन सभी आफिसर्स के खिलाफ एक्शन लेने की जरूरत है। केवल व्हाट्सएप चैट्स के आधार पर निर्णय लिये गये है और इनमे में किसी का भी टेस्ट नहीं कराया गया। जब आर्यन खान के केस ने दिखाया कि केस झूठा बनाया गया है। और यह सब रिया चक्रवर्ती के ड्रग्स केस के दौरान से होता आ रहा है, तब जाकर नयी इन्वेस्टिगेशन हुई। कई बातें सामने आयी, मैं गुजारिश करना चाहता हूं कि इन सभी आफिसर्स के खिलाफ इन्क्वायरी बैठे और केस को हैंडल किया जाये।

वकील ने कहा कि एक्टर की फिल्मी लाइफ 10-20 साल की होती है। उन्हें फिट रहने की जरूरत होती है और वो ड्रग्स से फिट नहीं रह सकते। आफिसर्स ने सिर्फ पापुलैरिटी के लिए स्टार्स के साथ यह सब किया है। उन्होंने समीर वानखेड़े के खिलाफ एक्शन लिया जाना चाहिये। राज्य में आफिसर्स हैं जो जबरदस्ती वसूली और इनकाउंटर केस में पकड़े गये हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.