पूर्वी सिंहभूम: झारखंड में एसटी सूची में शामिल होने की मांग को लेकर कुर्मी जातियों का विरोध प्रदर्शन जारी है। कई जिलों में इसे लेकर विरोध प्रदर्शन तेज हो रहा है, तो कई जगहों पर रेल की पटरी पर आंदोलनकारी बैठे हैं। इस वजह से ट्रेन परिचालन पर भी असर पड़ रहा है। झारखंड के साथ-साथ पश्चिम बंगाल, उड़ीसा में भी यह आंदोलन अपनी रफ्तार पकड़ रहा है।

कई ट्रेन रद्द रास्ते कुछ के बदले गए

कई ट्रेन रद्द भी कर दी गई है। रेलवे की तरफ से दी गई जानकारी में बताया गया है कि आद्रा मंडल एवं खड़कपुर मंडल में जन आंदोलन के कारण ट्रेन संख्या

कुर्मी समाज लंबे समय से खुद को एसटी सूची में शामिल करने की मांग कर रहा है। मंगलवार से इस आंदोलन की शुरुआत हुई है और अब तक आंदोलन की वजह से 8 रन को रद्द करना पड़ा। इसके साथ ही 13 ट्रेनों का रास्ता बदल दिया गया है।

क्या है मांग

पहले चरण के आंदोलन के बाद अब कुर्मी समाज के लोग दूसरे चरण के आंदोलन की भी तैयारी कर रहे हैं। कुर्मी समाज के लोगों ने एक संयुक्त संगठन बनाया है ताकि अपनी मांग को मजबूती से रख सकें। कुर्मी समुदाय के लोग एसटी का दर्जा देने के साथ-साथ कुरमाली भाषा को संविधान की आठवीं सूची में शामिल करने की भी मांग कर रहे हैं। यह आंदोलन झारखंड के साथ-साथ पश्चिम बंगाल और उड़ीसा में भी चल रहा है, जहां रेलवे पटरियों पर आवागमन बाधित कर दिया गया है। झारखंड सहित कई राज्यों में भी इस मांग को लेकर पहले भी आंदोलन होता रहा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.