रांची। झारखंड के बेरोजगार युवाओं के लिए एक अच्छी खबर है। झारखंड में 55 हजार से ज्यादा पदों पर जल्द ही भर्तियां होगी। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेने ने बड़ी संख्या में बहाली के संकेत दिये हैं। मुख्यमंत्री ने स्कूल शिक्षा, गृह विभाग, साक्षरता, वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन विभाग में खाली पड़े पदों को भरने के निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि एक माह के भीतर सभी विभागों में नियुक्ति की नियमावली तैयार हो जायेगी। जल्द ही रिक्तियों की सूचना झारखंड कर्मचारी चयन आयोग को भेजा जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार खाली पड़े पदों को जल्द भरना चाहती है। विभागों में जल्द से जल्द चयन हो सके, इसे लेंकर नियुक्ति, नियमावली और रोस्टर संबंधी विसंगतियों को दूर करने को कहा गया है। जल्द ही इसे लेकर विज्ञापन प्रकाशित किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने इस संदर्भ में मंगलवार को विभागों की उच्च स्तरीय बैठक ली।

55 हजार से ज्यादा पदों पर होगी भर्तियां

झारखंड में स्कूल शिक्षा व साक्षरता विभाग में सबसे ज्यादा 38 हजार पदों पर भर्तियां होगी। वहीं पुलिस विभाग में 13 हजार 473 पदों पर और वन विभाग में 4051 पदों पर अलग-अलग श्रेणियों में भर्ती होगी। मंगलवार को हुई बैठक में समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री को अधिकारियों ने खाली पदों के आंकड़े दिये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा है कि नियुक्ति आरंभ होने से पहले युवाओं को तैयारी का भरपूर मौका मिलेगा और संबंधित विभागों में रिक्त पड़े पदों को तत्काल भरा जायेगा। मुख्यमंत्री ने तीनों विभागों में नियुक्ति नियमावली की सारी बाधाएं दूर कर ली है।

अगस्त में जारी हो सकता है विज्ञापन

माना जा रहा है कि जुलाई के आखिरी सप्ताह तक तक कर्मचारी चयन आयोग को विभाग की तरफ से रिक्तियों की सूचना और परीक्षा कराने का अनुरोध पत्र भेज दिया जायेगा। कर्मचारी चयन आयोग की तरफ से तैयारी पूर्ण कर अगस्त तक में विज्ञापन जारी कर दिया जायेगा। खबर है कि इसी साल परीक्षा आयोजित कर परिणाम घोषित करने की भी तैयारी है।

ये अधिकारी रहे मौजूद

मंगलवार की उच्चतरीय बैठक में वन, पर्यावरण, जलवायु परिवर्तन विभाग के अपर मुख्य सचिव सह प्रधान सचिव, एल ख्यांगते, डीजीपी नीरज सिन्हा, गृह विभाग के प्रधान सचिव राजीव अरूण एक्का, कार्मिक विभाग के प्रधान सचिव वंदना डाडेल, वित्त विभाग के प्रधान सचिव अजय कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के सचिव राजेश शर्मा, प्रधान मुख्य वन संरक्षक एके रस्तोगी, अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक संजय श्रीवास्तव सहित शीर्ष अधिकारी मौजूद थे।  

Leave a comment

Your email address will not be published.