झारखंड में अनुबंधित कर्मचारियों का नियमितिकरण नहीं? , बाबूलाल मरांडी बोले, हर कोई हेमंत सरकार की वादाखिलाफी से आहत, कानून व्यवस्था पर भी बिफरे

धनबाद। झारखंड में कानून व्यवस्था को लेकर आज भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने हेमंत सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने प्रदेश में चल रही उगाही, ब्लैकमेलिंग, गोलीबारी जैसी घटना को लेकर सरकार को निशाने पर लिया। एक कार्यक्रम के सिलसिले में पहुंचे बाबूलाल मरांडी ने कहा कि झामुमो-कांग्रेस के कुशासन से पूरे प्रदेश में अराजकता का माहौल व्याप्त है। धनबाद में ठेले-खोमचे वालों से लेकर बड़े-बड़े प्रतिष्ठानों के संचालकों से खुलेआम रंगदारी वसूली जा रही है। बात चाहे कोयलांचल की हो, औद्योगिक शहर बोकारो की या राजधानी रांची की...।

मरांडी यहीं नहीं रूके, उन्होने कहा कि हर जगह आम जनता भय के साये में जीने को मजबूर हैं। सरकारी नौकरी में धांधली और बेरोजगारी भत्ता ना मिलने की वजह से राज्य का युवा वर्ग हताश और निराश है। सहायक पुलिसकर्मी, मनरेगाकर्मी सहित अनुबंध पर कार्यरत हज़ारों कर्मचारी नियमित नहीं किए जाने के कारण हेमंत सरकार की वादाखिलाफी से आहत है। अब इस ठग और लूटेरी झामुमो-कांग्रेस सरकार की विदाई का समय नजदीक आ चुका है। भाजपा का प्रत्येक कार्यकर्ता झारखंड में सुशासन लाने के लिए संकल्पित और प्रतिबद्ध है।

गिरिडीह में भी साधा था निशाना

इससे पहले गिरिडीह में भी बाबूलाल मरांडी ने सरकार पर जमकर निशाना साधा था, उन्होंने कहा था कि खान खनिज ,पत्थर, बालू,जमीन,गरीबों के अनाज और युवाओं की नौकरियों को लूटा है। आदिवासी, दलित, पिछड़ा, महिला युवा सभी वर्गों में निराशा है। विधि व्यवस्था ध्वस्त है। राजधानी के भीड़भाड़ के बीच हत्या हो जा रही।अपराधी बेखौफ हैं। महिलाएं ,बहन ,बेटियां सुरक्षित हैं। सामूहिक बलात्कार की घटाएं आम हो गई है। उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार ने अपने पहले बजट सत्र में लाखों युवाओं को नौकरी देने और नहीं तो बेरोजगारी भत्ता देने की बात सदन पटल पर कही थी लेकिन आज युवा हताश और निराश है। जेपीएससी, जेएसएससी की परीक्षाएं भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई। ब्लैक लिस्टेड एजेंसी के माध्यम से परीक्षाओं का संचालन कराकर राज्य सरकार ने नौकरियों को लाखों लाख में बेचवा दिया। आज युवा अभ्यर्थी धरने पर बैठने को मजबूर हैं। उनके पास भ्रष्टाचार के स्पष्ट प्रमाण हैं फिर सरकार जिद पर अड़ी है।





HPBL
HPBL  

Related Articles

Next Story