रांची । वैश्विक महामारी कोविड-19 के मद्देनजर ”जीविका भी, जीवन भी” के मंत्र के साथ मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन की सरकार आगे बढ़ रही है। इसी के तहत ग्रामीण अर्थव्यवस्था को सुदृढ़ करने तथा ग्रामीणों को रोजगार उपलब्ध कराने की पहल की गई है। इस कार्य में रूर्बन योजना प्रभावी भूमिका निभा रही है। रूर्बन योजना का उद्देश्य क्षेत्र का सर्वांगीण विकास पर फोकस करना है। आर्थिक विकास और मूल्य सृजन, ईएनटी बढ़ाने तथा बुनियादी सेवाओं के साथ-साथ सिंचाई सुविधा हेतु कुआं इत्यादि के निर्माण पर जोर देना है।

श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन के तहत ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा जारी जून महीने की डेल्टा रैंकिंग में झारखंड ने पहला स्थान प्राप्त किया है। वहीं ओवरऑल रैंकिंग में भी सुधार करते हुए आठवें पायदान पर आपनी स्थिति बनाने में सफलता प्राप्त की है। जून में लगातार प्रत्येक क्षेत्रो में हुए बेहतर कार्य के कारण झारखंड के रैंक में सकारात्मक परिवर्तन आया है। डॉ. मनीष रंजन, सचिव ग्रामीण विकास विभाग, झारखंड सरकार द्वारा बताया गया कि  रूर्बन मिशन में लगातार बेहतर कार्य किया जा रहा है एवं राज्य स्तर पर कार्य प्रगति की नियमित समीक्षा की जा रही है। सचिव ने सम्बंधित जिलों के अधिकारियों को राज्य के विकास के लिए और अधिक तत्परता से विकासोन्मुखी कार्यों पर जोर लगाने का निर्देश दिया  है।

झारखंड के ग्रामीण इलाकों में रूर्बन मिशन के तहत योजनाओं को धरातल पर उतराने में विभाग सफल रही है . ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार ने जून माह का डेल्टा रैंकिंग जारी किया है . डेल्टा रैंकिंग में झारखंड देश भर में पहले पायदान पर है . ओवर ऑल परफार्मेंश में भी झारखंड ने सुधार करते हुए देश भर में 8 स्थान अर्जित कर लिया है . भविष्य में रूर्बन मिशन से हर एक गांव – हर एक परिवार को लाभांवित करना हमारा लक्ष्य है और मुझे पूरी उम्मीद है कि हम इस लक्ष्य को जरूर हासिल करेंगे ।

Leave a comment

Your email address will not be published.