रांची। झारखंड में शिक्षकों की तबादला प्रक्रिया शुरू हो गयी है। शिक्षकों का ट्रांसफर अलग-अलग चरणों में होगा। नवंबर-दिसंबर में प्रशासनिक स्तर पर सैंकड़ों तबादले होंगे। ये तबादला उन स्कूलों में होगा, जहां शिक्षक या तो नहीं है, या फिर छात्रों के अनुपात में बेहद कम हैं। अगले साल जोनवार तबादला होगा। करीब 10 साल बाद शिक्षकों का इस स्तर पर तबादला होने वाला है। इससे पहले 2012-13 में शिक्षकों का ट्रांसफर हुआ था। स्कूल शिक्षा विभाग ने ट्रांसफर का टाइम टेबल जारी कर दिया गया है।

इसी महीने पांच जोन में जिला स्तरीय स्थापना के आधार पर बांटा जायेगा। शिक्षक, बच्चों की संख्या और स्वीकृत पद के आधार पर सूची प्रकाशित होगी 5 अक्टूबर तक जोन1, जोन 2 और जोन 3 में कई वर्षों से पदस्थापित शिक्षकों के प्रशासनिक स्थानांतरण के लिए सूची जारी होगी। नवंबर दिसंबर में स्कूलों में बच्चों की स्ट्रेंथ ज्यादा पदस्थ शिक्षकों का ट्रांसफर होगा।

हर जोन से 20 प्रतिशत शिक्षकों का ही तबादला होगा। दूसरे सप्ताह में कैंप लगाकर ट्रांसफर किया जायेगा। जानकारी के मुताबिक एक ही स्कूल में छह साल से अधिक समय से पदस्थ शिक्षकों का तबादला होगा। ट्रांसफर की प्रक्रिया पूर्ण होने में अगले साल जुन जुलाई तक वक्त लग जायेगा।

विभागीय तय शेडयूल के मुताबिक इसी साल नवंबर-दिसंबर तक: आवश्यकता से अधिक शिक्षकों व प्रशासनिक रूप से शिक्षकों का तबादला, हर जोन एक-दो-तीन से अधिकतम 20 प्रतिशित शिक्षक का जोन चार-पांच में तबादला किया जायेगा। वहीं फरवरी 2023 में जोन वार सामान्य स्थानांतरण के लिए आवेदन लिये जायेंगे। फरवरी 2023 व उसके बाद पारस्परिक तबादले के लिए असाध्य रोगी, दिव्यांग, महिला व अन्य गंभीर बीमार का आवेदन लिया जायेगा। फरवरी 2023 व उसके बाद अंतरजिला स्थानांतरण के लिये आवेदन लिए जाएंगे। 30 जून तक: सामान्य स्थानांतरण के लिए जिला व राज्य स्तरीय स्थापना समिति से अनुमोदन जून-जुलाई 2023 तक अंतर जिला स्थानांतरण के लिए प्राथमिक व माध्यमिक निदेशक द्वारा विचार व निर्णय लिया जायेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published.