नूंह (हरियाणा)। छापा मारने गये DSP की माफियाओं ने कुचलकर हत्या कर दी। घटना हरियाणा के नूंह के करीब पचगांव की बतायी जा रही है। मामले में DSP की मौके पर ही मौत हो गयी। डीएसपी सुरेंद्र सिंह विश्नोई ताबड़ू में पदस्थ थे। घटना दोपहर करीब 12 बजे की बतायी जा रही है। घटना के बाद दल-बल के साथ आईजी और एसपी मौके पर पहुंचे, लेकिन तब तक आरोपी फरार हो चुके थे।

जानकारी के मुताबिक खनन माफिया के खिलाफ मिली शिकायत के बाद डीएसपी सुरेंद्र सिंह पुलिस टीम के साथ मौके पर छापा मारने गये थे, इसी दौरान जब उन्होंने अवैध पत्थर से भरे ट्रक को रोकने की कोशिश की तो उन पर ट्रक चढ़ा दी गयी। घटना की सूचना पर नूह के एसपी और आईजी मौके पर पहुंचे और आरोपियों को पकड़ने के लिए सर्च आपरेशन शुरू किया।

मृत डीएसपी सुरेंद्र सिंह तावडू में पदस्थ थे। डीएसडी तावड़ू की पहाड़ी में अवैध माइनिंग की सूचना पर छापा मारने गये थे। डीएसपी अपनी गाड़ी से उतरकर कार्रवाई केलिए पुलिस टीम को निर्देश दे रहे थे, उसी दौरान एक तेज रफ्तार ने उन्हें कुचल दिया। घटना में मौके पर ही डीएसपी की मौत हो गयी। नूंह पुलिस ने एक बयान में कहा कि मेवात स्थित ताबडू में डीएसपी सुरेंद्र सिंह बिश्नोई, नूंह में अवैध खनन की सूचना मिलने पर मौके पर जांच के लिए गए. इस दौरान उन पर डंपर चढ़ा दिया गया. मामले में आरोपियों की खोज शुरू कर दी गई है. जानकारी के मुताबिक पुलिस टीम को देख पहाड़ी के पास खड़े डंपर चालक और खनन में लगे लोग भागने लगे, लेकिन जब वाहन रोकने के लिए DSP सुरेंद्र सिंह विश्नोई सामने आए तो डंपर चालक ने उनके ऊपर वाहन चढ़ा दिया और भाग गया। टायर के नीचे आने से DSP की मौके पर ही मृत्यु हो गई। घटना की सूचना मिलते ही नूंह के एझ वरुण सिंगला मौके पर पहुंचे हैं। डीएसपी हरियाणा के ही हिसार जिले के रहने वाले थे।

साल 2012 में ऐसे की गई थी आईपीएस अधिकारी की हत्या

हरियाणा जैसा ही मामला मध्यप्रदेश में भी सामने आया था। यहां मुरैना जिले में नियुक्त युवा IPS अधिकारी नरेंद्र कुमार सिंह ने अवैध खनन के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रहे थे। नरेंद्र कुमार सिंह साल 2009 बैच के आईपीएस अधिकारी थे और ट्रेनिंग के दौरान मुरैना जिले के बामौर में प्रशिक्षु पुलिस अनुमंडल अधिकारी (SDOP) के तौर पर तैनात किए गए थे। जिले के बामौर कस्बे में जब उन्हें अवैध पत्थर खनन की जानकारी मिली थी तो उन्होंने खनन माफिया के खिलाफ सख्त कार्रवाई शुरू की और जब कुछ अपराधियों पर शिकंजा कसने गए थे तो उन्होंने IPS नरेंद्र कुमार को कुचलकर मार डाला था।

Leave a comment

Your email address will not be published.