सरकार का फरमान कॉम्पिटेंसी टेस्ट तीन बार फेल तो जा सकती हैं टीचर की नौकरी , नियोजित शिक्षकों के लिए सरकार बना रही नया कानून

पटना: बिहार में चार लाख नियोजित शिक्षक बहुत जल्द राज्यकर्मी बन जाएंगे। सरकार से मंजूरी लेने की तैयारी में शिक्षा विभाग हैं। सक्षमता परीक्षा पास होने पर राज्यकर्मी का दर्जा नियोजित शिक्षकों को मिल जाएगा। बिहार विद्यालय परीक्षा समिति इन शिक्षकों की सक्षमता परीक्षा लेगी। इसमें पास होने के लिए अधिकतम तीन मौके दिए जाएंगे। प्रारूप में साफ किया गया था कि कॉम्पिटेंसी टेस्ट पास नहीं करने वालों की सेवा समाप्त कर दी जाएगी। सक्षमता परीक्षा में पास होने के लिए अधिकतम तीन मौके दिए जाएंगे। नियोजित शिक्षकों को लेकर नियमावली को अंतिम रूप दिया जा रहा है। बीपीएससी से नियुक्त शिक्षकों के बराबर इनको भी सैलरी मिलेगी।

बिहार में करीब चार लाख नियोजित शिक्षकों के लिए अच्छी खबर है। इनको राज्यकर्मी का दर्जा जल्द मिलने की उम्मीद है। इसके लिए नियमावली को शिक्षा विभाग ने अंतिम रूप दे दिया है। अब राज्य सरकार से मंजूरी लेने की तैयारी है। जल्द ही इस पर मुहर लगने के आसार हैं। सरकार की मंजूरी के बाद नियोजित शिक्षकों की सक्षमता परीक्षा लेकर उत्तीर्ण होने वालों को राज्यकर्मी का दर्जा दे दिया जाएगा। इसके बाद उन्हें बिहार लोक सेवा आयोग से बहाल शिक्षकों के बराबर वेतनमान और अन्य सुविधाएं मिलने लगेंगी।

शिक्षा विभाग ने ये भी साफ किया है कि सक्षमता परीक्षा पास करने वाले शिक्षकों का जिला संवर्ग होगा। वर्तमान में ये सभी नियोजित शिक्षक त्रि-स्तरीय ग्राम पंचायत और नगर निकाय के अधीन आते हैं। वहीं, ये भी प्रावधान किया गया है कि बिहार लोक सेवा आयोग से सफल हुए नियोजित शिक्षक अगर अपने पुराने पर ही बना रहना चाहते हैं तो उन्हें सक्षमता परीक्षा देने की जरूरत नहीं होगी। वो बिना परीक्षा के राज्यकर्मी का दर्जा प्राप्त करने के हकदार होंगे।

नियोजित शिक्षक जब राज्यकर्मी हो जाएंगे तो उनके जिला संवर्ग का पद स्थानांतरणीय हो जाएगा। इन शिक्षकों को सामान्य रूप से जिला शिक्षा पदाधिकारी की ओर से शिक्षा का अधिकार अधिनियम, छात्र-शिक्षक अनुपात अथवा जनहित में प्रतिबद्धताओं को ध्यान में रखते हुए जिला के अंदर स्थानांतरित किया जा सकेगा। वहीं, शिक्षकों के अनुरोध पर निदेशक प्राथमिक या निर्देशक माध्यमिक की ओर से जिले के बाहर भी स्थानांतरण किया जा सकेगा। एक शिक्षक सेवाकाल में केवल दो बार इस तरह के विकल्प का प्रयोग कर सकेंगे।

HPBL Desk
HPBL Desk  

हर खबर आप तक सबसे सच्ची और सबसे पक्की पहुंचे। ब्रेकिंग खबरें, फिर चाहे वो राजनीति की हो, खेलकूद की हो, अपराध की हो, मनोरंजन की या फिर रोजगार की, उसे LIVE खबर की तर्ज पर हम आप तक पहुंचाते हैं।

Related Articles

Next Story