केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने 18 साल से ऊपर के लोगों के लिए COVID-19 खुराक के अंतर को मौजूदा 9 महीने से घटाकर 6 महीने कर दिया है। सरकार ने आज इस बाबत सभी राज्यों को चिट्ठी लिखी है। केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को चिट्ठी लिखकर कहा है कि अब कोरोना का बूस्टर डोज 9 महीने की बजाए 6 महीने में ही लगेगा। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने राज्यों को पत्र लिखकर इस बाबत जानकारी दी है। पत्र में लिखा गया है कि कोरोना का दूसरा डोज और बूस्टर डोज की सीमा 9 महीने या 39 सप्ताह से घटाकर 6 महीने या 26 सप्ताह करने की सिफारिश NTAGI ने की है।

1859 साल के लिए बूस्टर डोज
नई एडवाइजरी के मुताबिक एसटीएससी ने कोरोना की बूस्टर डोज या प्रिकॉशनरी डोज के बीच के गैप को 6 महीने या 26 सप्ताह माना है. इसपर एनटीएजीआई ने अपनी संस्तुति दे दी है. इसलिए यह निर्णय लिया गया कि 18 से 59 साल के व्यक्तियों को कोरोना वैक्सीन की बूस्टर डोज को 6 महीने या 26 सप्ताह के अंतराल के बाद दूसरी डोज दी जाए. यानी यदि आज किसी ने वैक्सीन की बूस्टर डोज लगवाई है तो आज से 6 महीने पूरा होने के दिन वह बूस्टर डोज की दूसरी खुराक लगा सकता है.

Leave a comment

Your email address will not be published.