कोलकाता : ईसाई धर्म को मानने वाले सरकारी कर्मियों को राज्य सरकार ने तोहफा दिया है। क्रिस्चन समुदाय के लिए सबसे बड़े त्योहार 25 दिसंबर को मनाया जाता है। रंगारंग कार्यक्रम और धूमधाम से मनाया जाने वाला ये त्योहार काफी व्यस्तम माना जाता है। क्रिसमस का त्योहार 24 दिसंबर के रात्री से ही शुरू होकर आगे जारी रहती है। वर्ष 2022 में क्रिसमस 25 दिसंबर रविवार को ही रही है।

ममता सरकार ने पूर्व से क्रिसमस के अवसर पर दी जाने वाले अवकाश में परिवर्तन करते हुए क्रिसमस 25 दिसंबर रविवार के दूसरे दिन अर्थात 26 दिसंबर सोमवार को भी अवकाश को घोषणा कर दी है।

पहले क्या था नियम

पूर्व के नियम के अनुसार क्रिसमस का अवसर पर राज्य सरकार या केंद्र सरकार की तरफ से 25 दिसंबर को अवकाश घोषित है। 25 दिसंबर रविवार रहने के बावजूद अगले दिन अवकाश घोषित नहीं किया जाता रहा है। परंतु ममता सरकार ने इसमें बदलाव करते हुए 26 दिसंबर को भी अवकाश की घोषणा की है। जिससे क्रिश्चन समुदाय में हर्ष का माहौल है