पटना। बिहार में इन दिनों शिक्षा विभाग का हर कोई सकते में है। शिक्षक से लेकर छात्र तक पर एक्शन हो रहा है। आये दिन शिक्षकों के सस्पेंशन और वेतन रोकने की खबर तो आती ही रहती है, अब खबर है कि सरकारी विद्यालयों में तीन दिन से अधिक अनुपस्थित रहे 3 लाख 32 हजार विद्यार्थियों के नाम काट दिए गए हैं। अपर मुख्य सचिव के के पाठक के निर्देश पर ये एक्शन हुआ है।

अब छात्रों को विद्यालयों में नाम जुड़वाने के लिए दोबारा आवेदन देना होगा। यही नहीं उन्हें उनके अभिभावकों को शपथ पत्र के साथ यह लिखकर देना होगा कि उनके बच्चे नियमित रूप से विद्यालय आएंगे। तभी उनके बच्चे का दोबारा नामांकन हो जाएगा। जानकारी के मुताबिक अब तक सर्वाधिक 46 हजार से अधिक नाम कक्षा चार के विद्यार्थियों के काटे गए हैं। कक्षा पांच के 44 हजार से अधिक, कक्षा तीन के 40 हजार से अधिक, कक्षा छह के 39 हजार से अधिक, कक्षा सात के 38 हजार से अधिक विद्यार्थियों के नाम काटे गए हैं।

कक्षा दो के 31 हजार और कक्षा एक के 20 हजार से अधिक विद्यार्थियों के नाम काटे गए हैं। ये वे बच्चे हैं, जो लगातार तीन दिन से अधिक समय से विद्यालयों में अनुपस्थित रहे हैं। आपको बता दें कि लगातार तीन दिनों तक विद्यालय नहीं आने वाले बच्चों को सबसे पहले नोटिस दिया जा रहा है. साथ ही उनके अभिभावक से शिक्षक बात भी कर रहे हैं और बच्चों को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित भी कर रहे हैं. इसके बाद भी लगातार 15 दिनों तक विद्यालय नहीं आने वाले बच्चों का नामांकन रद्द कर दिया जा रहा है.

हर खबर आप तक सबसे सच्ची और सबसे पक्की पहुंचे। ब्रेकिंग खबरें, फिर चाहे वो राजनीति...