रांची हेमंत केबिनेट द्वारा पिछली बैठक में पुरानी पेंशन बहाली को लेकर लिए गए निर्णय का राज्य भर के कर्मचारी में हर्ष का माहौल है। हर जिले में जगह जगह कर्मचारी एक जुट होकर नाच गाने,रंग अबीर के साथ अपनी खुशियां एक दूसरे से बांट रहे हैं तो कही पटाखे और मिठाइयां खिलाई गई।

HPBL को प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य भर के कर्मचारियों द्वारा किए जा रहे स्वागत रैली, रंग गुलाल,पटाखे ,मिठाइयां के साथ खुशियो का इजहार करते दिख रहे कर्मचारियों के बीच उत्सव सा माहौल की गूंज CMO कार्यालय तक पहुंच गई है।CM हेमंत सोरेन खुद चाहते है की केबिनेट की बैठक में बनाई गई टीम जल्द से जल्द अपनी रिपोर्ट तैयार करे ताकि उसे कर्मचारियों के बीच लागू किया जा सके।

मालूम हो की 26 जून को बिरसा मुंडा फुटबॉल स्टेडियम मोरहाबादी में कर्मचारियों के बीच खुद मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने 15 अगस्त तक पुरानी पेंशन लागू करने की घोषणा की है। ऐसे में हेमंत सोरेन चाहते है की जल्द से जल्द घोषणा को हकीकत में बदला जाय।इसके लिए मुख्यमंत्री ने SOP की टीम जल्द से जल्द कारवाई करने के लिए आवश्यक निर्देश भी दे चुके हैं।

15जुलाई को हुई कैबिनेट की बैठक के बाद से ही राज्य भर के कर्मचारी के बीच उत्सव सा माहौल है। CMO इस अनछुए तस्वीर पर नजर रखे है।

जिला वार उत्सव की एक झलक

डा सुमन कुमार के नेतृत्व में गोड्डा में जश्न – ऐ – OPS के नाम से शहीद स्तंभ (गांधी मैदान मेन गेट) के सामने एक स्वागत रैली निकाली गई,हंसी खुशी के माहौल में रैली पूरे शहर का भ्रमण किया जे से काफी संख्या में महिला पुरुष कर्मी अपने बच्चो के साथ उपस्थित थे।

मुन्ना प्रसाद कुशवाहा जिला संयोजक के नेतृत्व में पुरानी पेंशन योजना लागू करने को लेकर कैबिनेट की स्वीकृति पर झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को एनएमओपीएस कर्मचारियों ने आभार प्रकट किया है। पुरानी पेंशन लागू होने से लगभग सवा लाख राज्य कर्मियों को फायदा होगा। उन्हें बुढ़ापे में एक निश्चित आर्थिक सहायता पेंशन के रूप में मिलेगा।

जिला संयोजक ने ये भी बताया की मुख्यमंत्री ने अपने चुनावी घोषणा पत्र में राज्यकर्मियों को पुरानी पेंशन पेंशन देने का वादा किया था। 26 जून 2022को एनएमओपीएस द्वारा आयोजित पेंशन जयघोष महासम्मेलन में पुरानी पेंशन योजना लागू करने की बात पुनः दोहरायी थी। मुख्यमंत्री द्वारा 15 जुलाई को ही कैबिनेट द्वारा इस प्रस्ताव को पारित कर दिया गया था। साथ ही इसे किस तरह क्रियान्वयन किया जाए, इसके लिए विकास आयुक्त की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति का भी गठन किया गया है। गिरिडीह ज़िला झण्डा मैदान से टॉवर चौक तक सभी राज्य कर्मचारियों एवं शिक्षको ने रंग गुलाल अबीर खेलकर बैंड बाजा के साथ मुख्यमंत्री के प्रति आभार जताया। कार्यक्रम में जिला संयोजक मुन्ना प्रसाद कुशवाहा, राजेन्द्र प्रसाद, इम्तियाज अहमद, शमा प्रवीण, घनश्याम गोस्वामी, रविकांत चौधरी, प्रियंका माथुर विकास सिन्हा, अनुज कुमार, अशोक सिंह नयन, बिनोद राम, सुदीप कुमार, राजेश कुमार सिंह मो अख्तर अंसारी, सीमा मौर्या, चंदन कुमार सिंह कोषाध्यक्ष रविकांत चौधरी संजीव कुमार त्रिपाठी सहित सैकड़ों कर्मचारी शामिल हुए।

देवघर जिला संयोजक आलोक कुमार सह संयोजक विश्वनाथ बक्शी और संजीव मिश्रा के नेतृत्व में सभी NPS कर्मी पुराना सदर हॉस्पिटल से vip चौक होकर टावर चौक तक ops कैबिनेट से मंजूरी होने पर कर्मचारीओ ने गाजे बजे और रंग गुलाल एक दूसरे को लगाकर हेमंत सरकार का आभार अभिनन्दन किये। कार्यक्रम में मनोज मिश्रा, पूनम कुमारी, चंद्र मोहन, बिभूति, श्याम समेत सैकड़ों कर्मचारी आभार यात्रा में शामिल थे।

कुछ इस तरह की माहौल गुमला ,गढ़वा जैसे सभी जिलों में देखने को मिली है। इतनी पुरानी मांगो की हकीकत में बदलता देख ये उत्सव का माहौल आने वाले दिनों में भी देखने को मिलेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.