नागौर। हनी ट्रैप मामले में महिला पुलिसकर्मी को सस्पेंड किया गया है। मामला राजस्थान के नागौर जिले का है। जहां SP राममूर्ति जोशी को महिला पुलिसकर्मी के हनी ट्रैप गैंग से साथ सांठ गांठ की शिकायत मिली थी। विभाग ने महिला पुलिसकर्मी के खिलाफ विभागीय जांच की भी करवाई के आदेश दिए हैं।

निलंबन के दौरान राजकुमारी मीणा का कार्यालय नागौर पुलिस लाइन रहेगा और उसकी विभागीय जांच भी करवाई जाएगी। महिला हेड कॉन्स्टेबल का नाम राजकुमारी मीणा है, जो नागौर के मकराना थाने में पोस्टेड थी। यौन शोषण के झूठे मामले में लोगों को फंसाने वाले गैंग को यह महिला पुलिसकर्मी संरक्षण प्रदान करती थी।

शिकायत के मुताबिक देह व्यापार से जुड़ी कुछ युवतियां और बदमाश प्रवृत्ति के युवकों का एक गैंग जिले में सक्रिय है और मकराना की महिला हेड कांस्टेबल राजकुमारी मीणा उनका सहयोग करती है।

हेड कॉन्स्टेबल मीणा के सहयोग से गैंग से जुड़ी युवतियां दौलतमंद लोगों को चिन्हित कर उनके साथ शारीरिक सबंध बनाती हैं, फिर उन्हें फंसाने का खेल किया जाता है। पहले तो संबंध बनाकर, फिर पुलिस में मुकदमा दर्ज करवाकर फंसाने की धमकी देकर पीड़ितों से मोटी वसूली की जाती है। हेड कांस्टेबल राजकुमारी मीणा समझौता कराने की आड़ में बड़ी राशि लेती है। मामले बिना पुलिस की दखल में ही चल रहे थे।

शिकायत को लेकर नागौर एसपी जोशी ने एक जांच कमेटी का गठन किया था। मामला सही पाये जाने पर हेड कांस्टेबल राजकुमारी मीणा को सस्पेंड कर दिया गया।

हर खबर आप तक सबसे सच्ची और सबसे पक्की पहुंचे। ब्रेकिंग खबरें, फिर चाहे वो राजनीति...