लखनऊ। यूपी तो गजब है…और वहां के नेता-अफसर तो और कमाल के हैं। कभी भैस खोजने के लिए पुलिस की ड्यूटी के चर्चित रहा यूपी का सियासी गलियारा अब गाय के इलाज में 7 डाक्टरों की ड्यूटी की वजह से चर्चाओं में है । फतेहपुर की महिला DC के बंगले में गाय है, जो कुछ दिनों से बीमार है। उपायुक्त मैडम ने एक सरकारी आदेश जारी कर 7 डाक्टरों की ड्यूटी शिफ्ट वाइज अपने बंगले में गाय के इलाज में लगा दी है। बंगले में 7 डाक्टरों की ड्यूटी का आदेश सोशल मीडिया में वायरल हुआ तो बवाल मच गया।

मामला फतेहपुर का है, जहां जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे के बंगले की गाय की तबीयत खराब होने के बाद पशु चिकित्सा विभाग ने 7 डाक्टरों की शिफ्ट वाइज ड्यूटी लगायी गयी। इस आदेश को व्हाट्सपएप ग्रुप में किसी ने शेयर कर दिया।

सरकारी आदेश में साफ लिखा है कि डीएम महादया की गाय की चिकित्सा के लिए पशु चिकित्सालय की प्रतिदिन सुबह-शाम ड्यूटी लगायी जाती है। साथ ही पशु चिकित्साधिकारी डा दिनेश कुमार सनगांव इन संबंधित डाक्टरों से समन्वय स्थापित कर गाय को देखने की सूचना मुख्य चिकित्सा अधिकारी को देंगे। हिदायत में इसमें साफ लिखी है कि मामले में शिथिलता अक्ष्मय है।

कलेक्टर अपूर्वा दुबे के पति IAS विशाख जी अय्यर हैं। विशाख जी अय्यर अभी कानुपर के उपायुक्त हैं। फतेहपुर की कलेक्टर अपूर्वा ने अपने बंगले में तीन गाय पाली है। अपर मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी एसके तिवारी के अनुसार कलेक्टर मैडम की गाय के इलाज के लिए डाक्टरों की टीम लगायी गयी थी। प्रतिदिन सात डाक्टरों की ड्यूटी लगायी गयी थी। जो फोन पर इलाज कर सूचना मुहैय्या कराते थे। इस आदेश का पत्र आफिशियल व्हाट्सएप ग्रुप में डाला गया था, जिसे किसी कर्मचारी ने वायरल कर दिया।

सात डाक्टरों में डा मनीष अवस्थी, डा भुवनेश कुमार, डा अनिल कुमार, अजय कुमार, डा शिव स्वरूप , डा प्रदीप कुमार, डा अतुल कुमार की ड्यूटी लगायी गयी है।  

Leave a comment

Your email address will not be published.