भागलपुर। तिलकामांझी यूनिवर्सटी में कर्मचारियोंकी हड़ताल जारी है। इस दौरान हड़तालियों और कालेज के शिक्षकों के बीच टकराव की स्थिति रही। इस दौरान आंदोलनकारियों ने दरफ्तर में घुसकर टेबल कुर्सी तोड़ दिये। हड़ताल की वजह से विश्वविद्यालय से संबद्ध 12 कालेजों को बंद कराया गया है। वहीं आंदोलनकारियों ने पीजी विभागों और लाइब्रेरी को भी बंद करा दिया।

अलग-अलग मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे कर्मचारियों ने कहा कि मांगें पूरी नहीं होने तक कांलेजों और पीजी विभाग में हड़ताल जारी रहेगी। कालेज कर्मचारियों की तरफ से जब बंद कराया जा रहा था, तो इस दौरान तीन विभागों में तोड़फोड़ की गयी। केमेस्ट्री, ज्योलॉजी और इतिहास विभाग में आंदोलनकारियों ने घुसकर टेबल-कुर्सी तोड़ दी। इस दौरान इतिहास के शिक्षकों और आंदोलनकरियों के बीच टकराव की स्थिति बन गयी। विभाग के शिक्षकों ने कुर्सी तोड़ने का विरोध किया। इस मामले में पाक्टर डा रतन मंडल ने तीखा विरोध जताते हुए आंदोलनकारियों को टेबल कुर्सी तोड़ना बंद करने को रहा।

इधर कर्मचारी नेता सुशील मंडल ने कहा कि विभागों को सुबह ही बंद करा दिया गया था, लेकिन कुछ शिक्षकों ने जबरन क्लास खोल लिया। हड़ताल पर सहयोग नहीं करने पर आंदोलनकारियों ने अपना विरोध जाता है। पिछले तीन दिन से हड़ताली कर्मचारी यूनिवर्सिटी में आंदोलन कर रहे हैं और कालेजों में पूरी तरह से सन्नाटा पसरा है।

Leave a comment

Your email address will not be published.