शनि मार्गी 2024 में कब होंगे और किस दिन मिलेगी इन 5 राशियों को शनि से राहत

Shani Margi 2024: ज्योतिष शास्त्र में शनि को क्रूर ग्रह माना गया है, आमजन पर शनि की बदलती चाल का गहरा असर पड़ता है इसलिए जब-जब शनि का गोचर (Shani gochar), व्रकी (Shani vakri) या मार्गी चलते हैं उस अवधि को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है.

शनि 30 जून को कुंभ राशि(Kumbh rashi) में वक्री होने जा रहे हैं. शनि (Shani dev) की चाल में बदलाव से सभी राशियों पर इसका प्रभाव पड़ेगा. कुछ राशियों को शनि के मार्गी होने तक कष्ट झेलने पड़ेंगे. जानें 2024 में शनि मार्गी कब होंगे.

शनि कब मार्गी होगा 2024 ? (Shani Margi 2024 Date)

30 जून को प्रात: 12.35 मिनट पर शनि वक्री चाल चलेंगे. करीब 139 दिन तकशनि वक्री अवस्था में कुंभ राशि में विराजमान रहकर उल्टी चाल चलेंगे.

15 नवंबर 2024 को रात 07.15 मिनट पर शनि मार्गी होंगे. मार्गी होने पर शनि सीधी चाल चलेंगे.

शनि मार्गी होने का मतलब ? (Meaning of Shani margi)

ग्रहों की गति के आधार पर मुख्य रूप से तीन तरह की स्थितियां पाई जाती हैं- मार्गी, वक्री और अतिचारी. ग्रह जब सामान्य गति से भ्रमण करता है तो उसको मार्गी कहते हैं. समय-समय पर कई ग्रह वक्री से मार्गी और मार्गी से वक्री चाल चलते हैं.

मार्गी शनि से किन राशियों को मिलेगी राहत

शनि के मार्गी होने से उन राशियों को भी राहत मिलेगी, जिन पर इस समय शनि की साढ़ेसाती (Shani sade sati) या ढैय्या (Dhaiya) चल रही है. जिन राशियों पर साढ़ेसाती या ढैय्या लगती है, उन्हें शनि का वक्री होना काफी परेशान करता है. आर्थिक, मानसिक और शारीरिक तौर पर कष्ट बढ़ जाते हैं. शनि की चाल बदलने से ये परेशानियां खत्म हो जाएंगी. इससे मीन, मकर, कुंभ, कर्क और वृश्चिक राशि वाले लोगों को राहत मिलेगी.

शनि के अशुभ प्रभाव से कैसे बचें

शनि के दुष्प्रभाव से बचने के लिए शनि देव को सरसों का तेल और काला तिल चढ़ाना चाहिए. इससे उनका आशीर्वाद मिलता है. पीपल के पेड़ की पूजा करने और उन्हें जल अर्पित करने से भी शनि की बुरी दृष्टि नहीं पड़ती है.

Related Articles

Next Story