रांची : जिला में कोरोना जांच और टीकाकरण में लगे सैकड़ों कर्मचारी अपने बकाया वेतन की मांग को लेकर मंगलवार को सिविल सर्जन कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों से सिविल सर्जन ने कहा कि जब तक मुख्यालय से वेतन मद में राशि प्राप्त नहीं होगी तब तक बकाया वेतन का भुगतान करना असंभव है। सिविल सिविल सर्जन ने यह भी कहा कि वह वेतन की मांग स्वास्थ्य मंत्री से करें। विभाग की ओर से वेतन मद में राशि आवंटित नहीं किया गया है।

सिविल सर्जन के इस जवाब के बाद विरोध प्रदर्शन करने वाले सभी कर्मचारी स्वास्थ्य मंत्री के आवास की ओर चले गए। प्रदर्शनकारी प्रशांत कुमार ने कहा कि वह अपने मेहनत का पैसा मांग रहे हैं, लेकिन स्वास्थ्य विभाग उस पैसे को भी देने में लगातार आनाकानी कर रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों उन लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया था तो स्वास्थ्य मंत्री ने 15 दिनों में बकाए के भुगतान का अश्वशासन दिया था ,लेकिन 15 दिन हो गए हैं अब तक उनको बकाया भुगतान नहीं हो पाया है।

उन्होंने कहा कि 1 माह के बाद भी पुराना टीकाकरण और कोरोना जांच कार्य में लगे कर्मियों को बकाया वेतन नहीं मिला है। इसलिए स्वास्थ्य कर्मी आक्रोशित है। यदि शीघ्र ही स्वास्थ्य मंत्री वेतन मद में राशि आबंटित नहीं करते हैं, तो हम सभी कर्मचारी मजबूरन उनकी आवास के समक्ष धरना देंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published.