कपड़े उतार दिये...गाल काटने लगा, फिर मेरे प्राइवेट पार्ट को पकड़कर....

Suraj Revanna accused of unnatural sex: यौन शोषण के आरोपों का सामना कर रहे पूर्व सांसद प्रज्वल रेवन्ना के भाई जनता दल (सेक्युलर) एमएलसी सूरज रेवन्ना के खिलाफ कथित यौन उत्पीड़न को लेकर मामला दर्ज किया गया है। एक व्यक्ति ने शनिवार को बैंग्लुरू को हासन जिले के होलेनरसीपुरा पुलिस स्टेशन में सूरज रेवन्ना के खिलाफ मामला दर्ज कराया। आरोप लगाया गया कि 16 जून को रेवन्ना के फार्महाउस पर उसके साथ यौन उत्पीड़न किया गया था। पुलिस ने सूरज के खिलाफ आईपीसी की 377, 342, 506 और 34 के तहत केस दर्ज किया है।

शिकायतकर्ता ने कहा कि सूरज रेवन्ना ने उसे अपने फार्महाउस पर बुलाया था और उसने जबरदस्ती उसे चूमा और उसके होंठ और गालों को काट लिया। उन्होंने आरोप लगाया कि सहयोग न करने पर सूरज रेवन्ना ने उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी। व्यक्ति ने शिकायत में कहा, “सूरज ने मुझसे कहा कि तुम इस फार्महाउस में अकेले हो। तुम मेरे और हमारे परिवार के बारे में नहीं जानते। उसने मुझे सहयोग न करने पर जान से मारने की धमकी दी।”

''सूरज रेवन्ना ने मुझे 16 जून को अपने फार्म हाउस पर बुलाया था. वहां उन्होंने बहुत अच्छे से बात की, लेकिन मैं तब हैरान रह गया, जब उन्होंने अपना हाथ मेरे कंधे पर रख दिया और मेरे कानों को छूने लगे. मैं डर गया. उन्होने कहा कि चिंता मत करो, मैं तुम्हारे साथ रहूंगा. फिर उन्होंने मेरे होंठ को चूमना और काटना शुरू कर दिया. मैंने उन्हें धक्का देकर दूर धकेल दिया. इस पर वो चिल्लाने लगे.''

बकौल शिकायतकर्ता, ''सूरज ने मुझसे कहा कि तुम इस फार्महाउस में अकेले हो. तुम मेरे और हमारे परिवार के बारे में नहीं जानते. इसके बाद उन्होंने मुझे धमकी दी कि यदि मैंने सहयोग नहीं किया तो वो मुझे मार देंगे. फिर वो मुझे अपने कमरे में ले गए और गले लगा लिया. मेरे गालों को काटना शुरू कर दिया. वो मुझसे अश्लील बातें करने लगे. यहां तक कि मेरे प्राइवेट पार्ट छूने लगे. अपने कपड़े भी उतार दिए. फिर मेरे साथ जबरन संबंध बनाया.''

इससे पहले सूरज रेवन्ना ने दो लोगों के खिलाफ ब्लैकमेल के आरोप में एफआईआर दर्ज कराई थी. आरोप है कि ये लोग सूरज को झूठे यौन शोषण के आरोप में फंसाने के लिए कह रहे थे. एफआईआर के मुताबिक, सूरज रेवन्ना और शिवकुमार ने चेतन और उसके एक रिश्तेदार के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. इसमें कहा है कि ये लोग सूरज को ब्लैकमेल कर रहे थे. झूठे आरोपों में फंसाने के एवज में पांच करोड़ रुपयों की मांग कर रहे थे.

इस मामले में चेतन ने सबसे पहले शिवकुमार से दोस्ती की थी. इसके बाद आर्थिक तंगी का हवाला देकर नौकरी के लिए मदद मांगी थी. इसके बाद शिवकुमार ने सूरज रेवन्ना से मुलाकात कराने की बात कही थी. 17 जून को चेतन ने शिवकुमार को बताया कि वो नौकरी मांगने के लिए 16 जून को सूरज के फॉर्महाउस पर गया था, लेकिन उन्होंने किसी भी तरह की मदद से इनकार कर दिया. इसके बाद चेतन ने सूरज को बदनाम करने की धमकी दी थी.

आरोप है कि चेतन ने कहा कि यदि उसे पांच करोड़ नहीं मिले तो वो यौन शोषण के आरोप में सूरज के खिलाफ पुलिस केस दर्ज कराएगा. इसके बाद चेतन लगातार शिवकुमार को ब्लैकमेल करता रहा. उसने बाद में पैसे घटाकर पहले तीन करोड़ फिर ढाई करोड़ कर दिया. चेतन का एक रिश्तेदार भी इस ब्लैकमेलिंग में शामिल था. वो चेतन के फोन से शिवकुमार को मैसेज भेजता था. इस मामले में आईपीसी की धारा 384 और 506 के तहत केस दर्ज है.

HPBL
HPBL  

Related Articles

Next Story