हाथ पैर बांधकर 8 दिन तक करते रहे सामुहिक दुष्कर्म, नशीली दवाइयां खिलाकर करते थे बेहोश....जानिए क्या है पूरा मामला ?

अलीगढ। देश में आये दिन महिलाओं के साथ दुष्कर्म की घटनाये सामने आती रही है,जहां भारतीय संस्कृति में महिलाओं का सम्मान किया जाता है, वहीं कुछ लोग इस समाज को गन्दा करने में लगे रहते है। वहीं एक मामला यूपी के अलीगढ से सामने आ रहा है, जहां रहस्मयी तरीके से एक महिला का अपहरण किया गया और फिर उसके साथ सामुहिक दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया गया। मामले की सुचना पुलिस को लगते ही पुलिस ने जांच शुरू कर दी थी। मामले में पुलिस ने पांच लोगो को दोषी पाया है, जिसमे से तीन लोगो को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं एक मुख्य आरोपी फरार बताया जा रहा है। साथ ही पुलिस जांच में लगी हुई है।

जानिए क्या है पूरा मामला ?

अलीगढ़ के क्वार्सी क्षेत्र में रहने वाली एक युवती 28 जून की शाम 4 बजे क्वार्सी चौराहे पर कहीं जाने के लिए घर से निकली थी। वहां से उस महिला का अपहरण किया गया, जिसके बाद उसे एक फ्लैट में बंदी बनाकर रखा गया। उसके हाथ-पैर बांध दिए गए और उसे नशीली गोलियां खिलाकर आठ दिनों तक सामूहिक दुष्कर्म किया गया। उसने उसके परिजनों से 80 हजार रुपये की फिरौती भी मांगी। पुलिस ने घटना का पर्दाफाश करते हुए एक बाल अपचारी और महिला समेत चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। मुख्य आरोपी अभी फरार है, जिसकी पहचान महिला के प्रेमी के रूप में हुई है। उसने महिला को मिलने के लिए बुलाया था। उसने उसे फर्जी नौकरी का लालच भी दिया था।

पुलिस ने क्या कहा ?

वहीं पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, पुलिस ने सर्विलांस की मदद से लगातार फोन की लोकेशन बदली। दो दिन बाद लोकेशन भी हरिद्वार में मिली। पुलिस ने एक ऐसे प्वाइंट पर कैमरा लगाया, जहां से हरिद्वार जाने वाली गाड़ियां निकलती जरूर हैं, लेकिन महिला नजर नहीं आई। उसके बाद अलीगढ़ में जहां भी लोकेशन मिली, वहां पर एक्टिव मोबाइल नंबरों को ट्रैक किया गया। कुछ संदिग्ध नंबर मिले, जिसके बाद लोधा क्षेत्र के गांव ताजपुर रसूलपुर निवासी अंजना चौधरी और साईं विहार कॉलोनी निवासी आकाश को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके बाद कांशीराम आवास निवासी जतिन कुमार और एक बाल अपचारी को पकड़ लिया गया। इनकी निशानदेही के आधार पर रविवार को सांगवान सिटी स्थित एक फ्लैट से महिला को बरामद कर लिया गया। महिला कमरे में कैद थी

पूछताछ में पता चला कि युवती दीपक नाम के एक युवक को जानती थी, जिसे उसका प्रेमी बताया जा रहा है। उसने युवती को नौकरी का लालच देकर क्वार्ट्ज चौक बुलाया। इसके बाद उसने युवती को कार में बैठाया और किराए के फ्लैट में ले गया। वहां उसने युवती को पेय पदार्थ में जहरीला पदार्थ मिलाकर पिला दिया। पुलिस ने दरवाजा तोड़ा तो महिला डरी हुई थी। उसके हाथ-पैर बंधे हुए थे। यहां से महिला के कपड़े, तीन मोबाइल फोन, तीन आधार कार्ड, एक पैन कार्ड, एक डेबिट कार्ड, प्लास्टिक की रस्सी और 17 नशीली गोलियां बरामद हुईं। पुलिस ने आकाश, अंजना और जतिन को जेल भेज दिया है। बाल अपचारी को आगरा बाल सुधार गृह भेज दिया गया है।

बेहोश होने के बाद हाथ-पैर बांध दिए गए। इसके बाद दुष्कर्म किया। बाद में आकाश, जतिन और बलआरोपी को बुलाया। उन्होंने भी दुष्कर्म किया। इसके बाद दीपक ने महिला का फोन लिया और हरिद्वार चला गया। अंजना भी उसके साथ थी। इसके पीछे तीनों आरोपी महिला के साथ दुष्कर्म करते रहे। उसका अश्लील वीडियो बना लिया।

Related Articles

Next Story