झारखंड : ठगी से बनाया करोड़ों की संपत्ति, जानिये कैसे आया पुलिस के शिकंजे में ?

गिरिडीह : झारखंडमें साइबर अपराधियों के खिलाफ लगातार कार्रवाई जारी है. इसी क्रम में गिरिडीह पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है. पुलिस ने एक ऐसे अपराधी को शिकंजे में लिया, जिसने साइबर अपराध के जरिये करोड़ों की संपत्ति अर्जित कर रखा था. पुलिस कप्तान दीपक कुमार शर्मा को गुप्त सूचना मिली थी कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र के गपेय में एक साइबर अपराधी आम लोगों से ठगी कर रहा है. गुप्त सूचना के आधार पर साइबर डीएसपी आबिद खान के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया. इस टीम में पुलिस निरीक्षक सह साइबर थाना प्रभारी अजय कुमार,पुलिस अवर निरीक्षक पुनीत कुमार गौतम,गुंजन कुमार, सहायक अवर निरीक्षक संजय मुखियार,आरक्षी जितेंद्र महतो शामिल थे. इस टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए छापेमारी की और एक साइबर अपराधी 24 वर्षीय सोनू कुमार वर्मा पिता चेतलाल वर्मा को गिरफ्तार किया है.

गिरफ्तार साइबर अपराधी सोनू ने पुलिस को अपने स्वीकारोक्ति बयान में बताया कि Sduko एप्प के जरिए से लड़की से न्यूड वीडियो कॉलिंग करवाने और लड़की उपलब्ध कराने का झांसा देकर लिंक भेज कर पैसा ठगी करता था. इसके अलावा गूगल पे,फोन पे आदि का कस्टमर केयर हेल्पलाइन नंबर या फिर किसी स्किम में कैश बैंक देने के नाम पर लिंक भेज कर ठगी करता था. साथ ही फर्जी सिम और खाता भी उपलब्ध कराता था. इस तरह से वो करोड़ों की संपत्ति अर्जित कर रखा है. उसके पास 18 लाख की कार, ट्रक, बाइक,स्कूटी, हजारीबाग में 50 लाख का फ्लैट, बेंगाबाद के साठीबाद एंव महुआर में 2 करोड़ की जमीन अपने परिजनों के नाम पर लिया है. गिरफ्तार सोनू वर्मा के खिलाफ गिरिडीह नगर थाना कांड संo-245/2017,गिरिडीह मुफस्सिल थाना कांड संo-266/2015,यह वरली,मुंबई के साइबर केस में जेल भी जा चुका है वंही गिरिडीह साइबर थाना कांड संo-28/2023 के गिरफ्तार महेंद्र मंडल ने अपने अपराध स्वीकारोक्ति बयान में भी अपने सहयोगी सोनू कुमार वर्मा का नाम लिया है।

Related Articles

Next Story