चतरा : जिले के गिद्धौर प्रखंड कार्यालय में भ्रष्टाचार के विरुद्ध एसीबी की टीम ने बड़ी कार्रवाई की है. एसीबी की टीम ने रिश्वत लेते पंचायत सचिव और प्रखंड समन्वयक को रंगेहाथ गिरफ्तार किया है. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने मामले की शिकायत मिलने के बाद गिद्धौर प्रखंड कार्यालय में जाल बिछाया था, जिसमें पंचायत सचिव और प्रखंड समन्वयक रंगेहाथ घूस लेते पकड़े गए।

डीएसपी विमलेश त्रिपाठी के नेतृत्व में पहुंची हजारीबाग एसीबी की टीम ने गिद्धौर प्रखंड कार्यालय में यह कार्रवाई की है. पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पंचायत सचिव कमलेश वर्मा को पांच हजार रुपए कैश और प्रखंड समन्वयक सीताराम रजक को दो हजार रुपए कैश रिश्वत लेते एसीबी की टीम ने रंगेहाथ गिरफ्तार किया है. वहीं एसीबी की इस कार्रवाई से प्रखंड कार्यालय में हड़कंप मच गया।

गिरफ्तारी के बाद दोनों आरोपियों को एसीबी की टीम अपने साथ हजारीबाग ले गई है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मनरेगा के 15वें वित्त आयोग की योजना के तहत निर्मित योजनाओं के नाम पर पंचायत सचिव और प्रखंड समन्वयक घूस ले रहे थे. पहरा गांव निवासी सूरज साव से रिश्वत की रकम ली जा रही थी. सूरज ने ही मामले की शिकायत एसीबी से की थी. जिसके बाद एसीबी की टीम ने यह कार्रवाई की।

हर खबर आप तक सबसे सच्ची और सबसे पक्की पहुंचे। ब्रेकिंग खबरें, फिर चाहे वो राजनीति...