पटना। बिहार में शिक्षकों की बंपर निकलने वाली है। खास बात ये है कि इस बात की शिक्षक बहाली अन्य शिक्षक भर्ती से बिल्कुल अलग होगी। विभाग ने जो तैयारी की है, उसके मुताबिक इस बार आवेदन से लेकर नियुक्ति तक की प्रक्रिया बिल्कुल अलग होगी। सातवें चरण की बहाली में कक्षा 1 से लेकर 12 तक के लिए भर्तियां होगी। प्रारंभिक स्कूल केलिए 80 हजार शिक्षकों की बहाली अगस्त में आयेगी। सेकेंडरी और हायर सेकेंडरी स्कूलों में कक्षा 9 से 12 तक के लिए 1 लाख से ज्यादा रिक्तियों को भरा जायेगा।

जानकारी ये मिली है कि इस बार आनलाइन प्रक्रिया से आवेदन मांगे जायेंगे। अलग-अलग नियोजन इकाईयों केलिए आवेदन नहीं भरना होगा। राज्य सरकार ने सभी जिलों से शिक्षकों के खाली पदों की जानकारी मांगी है। छठे चरण में खाली रह गये 48 हजार और 30 हजार से ज्यादा खाली पदों को मिलाकर करीब 80 हजार पदों पर भर्तियां होगी। 30 जून तक जिलों से खाली पदों की जानकारी मांगी गयी है।

वर्तमान में अलग-अलग नियोजन इकाइयों में आवेदन देने से अभ्यर्थी रहते हुए भी पद खाली रह जाते थे। हाल में 90762 प्राथमिक शिक्षक में से 48 हजार से अधिक पद खाली रह गये। अलग-अलग नियोजन ईकाई के माध्यम से मेधा सूची और चयन की प्रक्रिया होती है, इससे कई बार योग्य अभ्यर्थी भी चयन से वंचित रह रहे हैं। इस बार की बहाली में मुखिया और मेयर की भूमिका नहीं होगी। नियोक्ता पंचायती राज और नगर निकाय होंगे, लेकिन मुखिया, प्रमुख, नगर परिषद, अध्यक्ष या मेयर की भूमिका भर्ती में नहीं होगी। अलग-अलग नियोजन इकाई में आवेदन जमा नहीं करना होगा, लेकिन आप्शन जरूर मांगा जायेगा कि आप किस निकाय में नौकरी करना चाहते हैं।

राज्य सरकार ने 31 दिसंबर 2022 तक रिटायर होने वाले शिक्षकों की लिस्ट मांगी है। उम्मीद है कि सातवें चरण में करीब पौने दो लाख शिक्षकों की वैकेंसी आयेगी।

हर खबर आप तक सबसे सच्ची और सबसे पक्की पहुंचे। ब्रेकिंग खबरें, फिर चाहे वो राजनीति...