गोपालगंज। शराब चीज ही ऐसी है!…ना शर्म देखती है और ना शोहबत…। गोपालगंज में इनकम टैक्स का असिस्टेंट कमिश्नर शराब तस्करी में गिरफ्तार हुआ है। चेक पोस्ट पर जब पुलिस टीम ने भारत सरकार लिखे गाड़ी को रोका तो उसमें बैठे इनकम टैक्स के असिस्टेंट कमिश्नर ने आईडी कार्ड दिखाकर आगे जाने देने को कहा है। पुलिस ने बिना तलाशी के गाड़ी आगे नहीं जाने देने की बात कही, जिसके बाद गाड़ी की तलाशी में आठ कार्टून विदेशी शराब बरामद हुआ।

गिरफ्तार इनकम टैक्स विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर राजेश कुमार छपरा में पोस्टेड हैं। शराब तस्करी के मामले में इनकम टैक्स के असिस्टेंट कमिश्नर राजेश कुमार के अलावे उनके ड्राइवर अजय पांडेय को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। लग्जरी कार पर भारत सरकार लिखा हुआ था। पुलिस ने बताया कि आरोपी आयकर विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर हैं, जो आईकार्ड दिखाकर आगे बढ़ना चाह रहे थे, लेकिन जवानों ने कार की तलाशी लेनी शुरू कर दी। कार से 8 कार्टून विदेशी शराब जब्त की गयी है।

शराब तस्करी में गिफ्तार असिस्टेंट कमिश्नर राजेश कुमार ने बताया कि उन्होंने 2011 में बतौर सहायक इंस्पेक्टर के पद पर ज्वाइनिंग की थी। अभी वो मयूर भवन में तैयार हैं। वो दिल्ली से छपरा आ रहे थे, इसी दौरान गोपालगंज के बल्थरी चेकपोस्ट पर उनकी गाड़ी को उत्पाद विभाग की टीम ने पकड़ा है। इस मामले में अब उत्पाद विभाग की टीम जांच में जुटी है। दरअसल 2016 से बिहार में शराबबंदी है। शराबबंदी की वजह से दूसरे राज्यों से लगातार शराब लाकर बिहार में खपाया जाता है। असिस्टेंट कमिश्नर भी उसी तरह से दिल्ली से शराब लाकर बिहार में इंट्री ले रहे थे। वो अधिकारी का आई कार्ड दिखाकर आगे बढ़ना चाह रहे थे, लेकिन शक के बाद आधार पर पुलिस उन्हें रोक लिया और जांच में बड़ी संख्या में शराब की बोतलें बरामद की।

Leave a comment

Your email address will not be published.