लोहरदगा। घूसखोरी वो बला है,….जिसमें कोई किसी का सगा नहीं है। अब लोहरदगा का ही मामला देख लीजिये, जहां एक पुलिसवाला ही पुलिसवाले से घूस ले रहा था। एसपी कार्यालय का घूसखोर एकाउंटेंट सिपाही के TA बिल को निकालने के लिए 3 हजार रूपये रिश्वत ले रहा था। घूसखोर पुलिस एकाउंटेंट को ACB की टीम ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तारी के बाद अकाउंटेंट को एसीबी की टीम अपने साथ उसे रांची लेकर गयी है। जानकारी के मातबिक ACB रांची की टीम ने SP कार्यालय में घूस लेते एक अकाउंटेंट शैलेश कुमार को गिरफ्तार किया है। अकाउटेंट टीए बिल निकालने के नाम पर 3 हजार रूपये रिश्वत ले रहा था। जानकारी के मुताबिक लोहरदगा डिस्ट्रिक्ट फोर्स में तैनात जवान ने एसीबी को लिखित शिकायत की थी। जिसमें ये कहा गया था कि टीए के बिल भुगतान के लिए उससे रिश्वत मांगा जा रहा है।

शिकायत की एसीबी ने जांच की और मामला सही पाया, जिसके बाद आज  सादे लिबास में एसबी की टीम एसपी दफ्तर पहुंची, उधर जैसे ही जिला बल के जवान ने रिश्वत दी, इशारा मिलते ही एसीबी की टीम ने अकाउंटेंट को गिरफ्तार कर लिया। शिकायत में बताया गया था कि उसके टीए के 33 हजार रूपये बिल के बदले 3 हजार रूपये रिश्वत की डिमांड अकाउंटेंट कर रहा था।

Leave a comment

Your email address will not be published.