यूरिक एसिड क्या है?
यूरिक एसिड का ज्यादातर हिस्सा किडनियों के जरिए फिल्टर होता है, जो टॉयलेट के जरिए शरीर से बाहर निकल जाता है, लेकिन अगर यूरिक एसिड शरीर में ज्यादा बनने लगे या फिर किडनी उसे अच्छी तरह फिल्टर न कर पाए तो खून में यूरिक एसिड का लेवल बढ़ने लगता है। बढ़ा हुआ यूरिक एसिड या गाउट डिजीज एक तरह के गठिया की बीमारी है। जिसकी वजह से शरीर की मांसपेशियों में सूजन, दर्द महसूस होने लगता है। ये दर्द शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है।

यूरिक एसिड की सामान्य मात्रा कितना होना चाहिए

रक्त में यूरिक एसिड का पता लगाने के लिए विशेषज्ञ मरीज को रक्त परीक्षण के लिए कह सकते हैं, जिसके माध्यम से पता लग जाता है कि मरीज के रक्त में यूरिक एसिड का स्तर क्या है। यह परीक्षण बहुत ही सरल होता है, इसकी रिपोर्ट जल्द ही आ जाती है।

इस जाँच में यूरिक एसिड को मिलिग्राम (mg) और रक्त को डिकिलीटर (dL) में मापा जाता है।

महिलाओं और पुरुषों के सामान्य यूरिक एसिड के मानक भिन्न हैं, सामान्य तौर पर अगर मरीज के यूरिक एसिड का स्तर इन मानकों से ऊपर है तो उसके लिए विशेषज्ञ से जरूर मिलें-

  • महिलाओं के लिए, यह 6 mg / dL से अधिक है
  • पुरुषों के लिए, यह 7 mg / dL से अधिक है

यूरिक एसिड कंट्रोल करने के घरेलू उपाय

यूरिक एसिड के बढ़ते स्तर को नियंत्रित किया या सकता है, और ऐसा करना आवश्यक भी है क्योंकि इसकी अधिकता होना गम्भीर समस्याएं भी पैदा कर सकती है। इसके लिए कुछ बातों को ध्यान में रखना आवश्यक है।

  • पानी पीना अच्छी सेहत की पहली शर्त है, जब भी आपके शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ने तो वॉटर इनटेक बढ़ा लें, इससे हमारी किडनी को बॉडी टॉक्सिंस को फिल्टर करने में मदद मिलेगी, कई हेल्थ एक्सपर्ट्स के मुताबिक एक दिन में 8 से 10 ग्लास पानी पीना जरूरी है
  • अजवाइन (Celery) एक ऐसा मसाला है जिसका इस्तेमाल हम खाने का टेस्ट बढ़ाने के लिए करते हैं, लेकिन इसके जरिए यूरिक एसिड भी कंट्रोल हो सकता है और पेट की बाकी परेशानियां को भी दूर करने में सहायता मिलती है
  • जैतून के तेल (Olive Oil) के फायदों के बारे में हम सभी वाकिफ हैं, ये हार्ट की सेहत के लिए तो अच्छा है ही, इसके अलावा अगर आपका यूरिक एसिड बढ़ गया है तो वो ऑलिव ऑयल खाने से नेचुरल तरीके से कम हो जाएगा.
  • अच्छी सेत के लिए यंग इंसान को 7 से 8 घंटे की नींद लेनी जरूरी है. स्लीप डिसऑर्डर कई समस्याओं की जड़ है, लेकिन आप ये नहीं जानते होंगे कि कम सोने से यूरिक एसिड भी बढ़ जाता है. इसलिए नींद जरूर पूरी करें.
  • खान- पान पर विशेष ध्यान दें। प्यूरीन की अधिकता ज्यादातर मांसाहारी चीजों में होती है लेकिन शाकाहारी लोगों को भी फूलगोभी, मशरूम, मटर जैसी चीजों का सेवन कम करना चाहिए, खासकर अगर अगर यूरिक एसिड बढ़ा हुआ है। 
  • नियमित व्यायाम करना हर तरह से फायदेमंद है, ये आपके वजन को संतुलित रखता है, शरीर में अतिरिक्त फैट को स्टोर होने से रोकता है और शरीर के सारे अंगों को सुचारू रूप से काम करने में मदद भी करता है।  शरीर में मौजूद फैट सेल्स ज्यादा मात्रा में यूरिक एसिड का निर्माण करती हैं, एक्सरसाइज के जरिये आप इस पर नियंत्रण कर सकते हैं। 
  • अगर आप अधिक मात्रा में मिठाई, चॉकलेट, पैक्ड स्नैक्स, बाजार के जूस, एनर्जी ड्रिंक, सोडा आदि का सेवन करते हैं तो यह मुश्किल पैदा कर सकती हैं। इसके साथ ही बहुत ज्यादा तला, मसालेदार भोजन, नमकीन आदि भी दिक्कत दे सकता है।
  •  बॉडी में यूरिक एसिड का स्तर बढ़ने पर प्रोटीन युक्त चीजों से परहेज करना चाहिए। डेयरी प्रोडक्ट में आप पनीर, छाछ और दही का सेवन करने से परहेज करें इन्हें किण्वन करके तैयार किया जाता है। डेयरी प्रोडक्ट में आप पनीर और मट्ठा का सेवन कर सकते हैं उससे यूरिक एसिड बढ़ने का खतरा नहीं रहता।
  • अंडे का सेवन से परहेज करें। अंडे की जर्दी में न्यूक्लिड एसिड होता है जबकि सफेद भाग प्रोटीन से भरपूर होता है जो तेजी से यूरिक एसिड का स्तर बढ़ा सकता है।
  •  दालें प्रोटीन का बेहतरीन स्रोत है। दालों और फलियों में प्योरीन की मात्रा कम से लेकर मध्यम स्तर तक मौजूद होती है जो बॉडी में बढ़े हुए यूरिक एसिड के स्तर को और ज्यादा बढ़ा सकती हैं।
  • प्रोटीन और फैट से भरी मूंगफली का सेवन यूरिक एसिड के मरीजों को नुकसान पहुंचा सकता है। मूंगफली का सेवन करने से यूरिक एसिड तेजी से बढ़ने लगता है। इसका सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल भी बढ़ता है।

नो़ट: यहां दी गई जानकारी घरेलू नुस्खों और सामान्य जानकारियों पर आधारित है. इसे अपनाने से पहले चिकित्सीय सलाह जरूर लें

.

Leave a comment

Your email address will not be published.