धनबाद जिला आयुष चिकित्सा के नोडल पदाधिकारी डॉ संजय कुमार राय की अध्यक्षता में जिला आयुष चिकित्सा पदाधिकारी एवम प्रखंड आयुष मेला के आयोजन समिति की बैठक सिविल सर्जन कार्यालय के सभा कक्ष में हुई। धनबाद जिला अंतर्गत सभी प्रखंडों में दो दिवसीय आयुष मेला के सफल आयोजन को लेकर आयोजन समिति की हुई बैठक में विस्तृत रूप से विमर्श किया गया।

23 -24 जुलाई को बलियापुर और गोविंदपुर में होगा मेला का आयोजन

उल्लेखनीय है की प्रखंड स्तर पर दो दिवसीय आयुष मेला का आयोजन किया जाना है,जिसके संबंध में विस्तृत दिशा निर्देश अभियान निदेशक NHM का प्राप्त हो चुका है जिसमे मेला के आयोजन में होने वाली व्यय राशि का भी प्रावधान किया जा चुका है। भारत सरकार आयुष मंत्रालय द्वारा चलाई जा रही योजना राष्ट्रीय आयुष मिशन के तहत बलियापुर और गोविंदपुर प्रखंड में 23-24 जुलाई 2022 को दो दिवसीय प्रखंड आयुष मेला का आयोजन किया जाएगा।

आज की बैठक में जिले के सिविल सर्जन डॉ श्याम किशोर ,जिला शिक्षा पदाधिकारी, जिला शिक्षा अधीक्षक, डॉ संजीव कुमार जिला आर सी एच पदाधिकारी, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, जिला कल्याण पदाधिकारी,जिला NCD पदाधिकारी,जिला JSLPS कार्यक्रम प्रबंधक, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी बलियापुर और गोविंदपुर,प्रखंड कार्यक्रम प्रबंधक बलियापुर और गोविंदपुर,जिले भर के आयुष चिकित्सा पदाधिकारी एवम RBSK के चिकित्सा पदाधिकारी उपस्थित थे।

आयोजन समिति में बारिश के मौसम को देखते हुए आयुष मेला के आयोजन स्थल के बारे भी विमर्श किया गया। क्योंकि मेला के आयोजन स्थल पर वॉटरप्रूफ पंडाल से लेकर आवाजाही का सुगम मार्ग,प्रचार प्रसार ,पंडाल के अंदर के स्टॉल 15× 15 साइज, स्टॉल के प्रकार, एवम अन्य सभी प्रकार के आयुष चिकित्सा से संबंधित उपचार की व्यवस्था कराना है। गोविंदपुर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने बताया की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोविंदपुर परिसर में समुचित स्थान है और आने जाने की सुगम मार्ग भी है,इसलिए गोविंदपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्रखंड आयुष मेला का आयोजन किया जाएगा। बलियापुर के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ राहुल ने भी कहा की बारिश के मौसम में मेले के आयोजन बलियापुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में किया जाएगा।

सिविल सर्जन ने बैठक में उपस्थित पदाधिकारी को संबोधित करते हुए कहा की मेले के आयोजन में खर्च होने वाली राशि की कमी नहीं है,जिस प्रखंड में आयुष चिकित्सक की कमी होगी उस प्रखंड में जिला से आयुष चिकित्सक को भेजा जाएगा । इसलिए मेले का आयोजन और इसके प्रचार प्रसार में कोई कमी नही रहनी चाहिए। जिला के पदाधिकारी भी मेले के आयोजन,सुविधा स्टॉल,प्रचार प्रसार के निरीक्षण करेंगे।सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को निर्देश भी दिया गया की पूरे पंडाल, स्टॉल, की फोटो और वीडियो भी जिला कार्यालय की उपलब्ध कराना सुनिश्चित करेंगे ताकि राज्य मुख्यालय भेजा जा सके।

कौन कौन से स्टॉल लगेंगे

  1. स्वागत एवम पूछताछ/ निबंधन
  2. आयुर्वेद
  3. होम्योपैथिक
  4. यूनानी
  5. योग
  6. NCD/NTCP
  7. दवा वितरण केंद्र/ फार्मेसी
  8. प्रयोगशाला – B.P, SUGAR,H.B
  9. औषधि पौधों की जानकारी
  10. RTI /STI/ ARS काउंसलर
  11. पोषण सलाह/ एएनएम/जीएनएम
  12. अन्य आवश्यकतानुसार

Leave a comment

Your email address will not be published.